कोविड-19 डायग्नोसिस के लिए जल्द आएगी आरटी-एलएएमपी किट : हर्षवर्धन

हर्षवर्धन ने यह भी कहा कि आरटी-एलएएमपी परीक्षण में तीव्र, सटीक और लागत प्रभावी है इसे स्वदेशी घटकों के साथ किया जा सकता है और इसे न्यूनतम विशेषज्ञता और इंस्ट्रूमेंटेशन के साथ स्थापित किया जा सकता है।

Written by: May 27, 2020 5:39 pm

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बुधवार को कहा कि जम्मू की काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च सीएसआईआर) की एक घटक प्रयोगशाली सीएसआईआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटीग्रेटिव मेडिसिन एक नया रिवर्स ट्रांसक्रिपटेस-लूप मीडिऐटेड आइसोथर्मल एम्प्लीफिकेशन (आरटी-एलएएमपी) आधारित कोविड-19 डायग्नोस्टिक किट विकसित कर रही है। लैब ने इस वेंचर के लिए रिलायंस इंडस्ट्री लिमिटेड (आरआईएल) के साथ साझेदारी की है।

DR harshvardhan

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने ट्वीट कर कहा, “सीएसआईआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटीग्रेटिव मेडिसिन, जम्मू के एक घटक प्रयोगशाला ने आरआईएल के साथ मिलकर एक नया रिवर्स ट्रांसक्रिपटेस-लूप मेडिटेड डार्टमल एम्प्लीफिकेशन (आरटी-एलएएमपी) पर आधारित नए कोविड 19 डायग्नोस्टिक किट बनाए जाएंगे।”

मंत्री ने यह भी कहा कि आरटी-एलएएमपी परीक्षण में तीव्र, सटीक और लागत प्रभावी है इसे स्वदेशी घटकों के साथ किया जा सकता है और इसे न्यूनतम विशेषज्ञता और इंस्ट्रूमेंटेशन के साथ स्थापित किया जा सकता है।

odisha corona

कोविड-19 आरटी-एलएएमपी जांच रोगियों के नाक/ गले के स्वाब के नमूने के साथ की जाने वाली न्यूक्लिक एसिड आधारित जांच है। इसमें सिंथेटिक टेम्पलेट्स का इस्तेमाल करते हुए जांच नुस्खे को विकसित किया गया है और उसका सफलतापूर्वक प्रदर्शन किया गया है।