मध्यप्रदेश के मामले में कानूनी लड़ाई के लिए बीजेपी ने कमर कसी, सॉलिसिटर जनरल से मिले सिंधिया-शिवराज

मध्य प्रदेश में बीजेपी पूरी तैयारी के साथ मैदान में उतरी है। वह किसी भी सूरत में इस बाजी को हाथ से गंवाना नहीं चाहती है। बीजेपी ने कानूनी तैयारियां भी कर ली हैं।

Written by: March 15, 2020 3:20 pm

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में बीजेपी पूरी तैयारी के साथ मैदान में उतरी है। वह किसी भी सूरत में इस बाजी को हाथ से गंवाना नहीं चाहती है। बीजेपी ने कानूनी तैयारियां भी कर ली हैं। फ्लोर टेस्ट के मद्देनजर कांग्रेस के कानूनी दांव से निपटने के लिए बीजेपी ने अपनी ओर से रणनीति मुकम्मल कर ली है। इन्हीं कानूनी गतिविधियों को लेकर बीजेपी नेताओं ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से मुलाकात की।

jyotiraditya scindia

इस मुलाकात में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे जबकि बीजेपी नेताओं में नरेंद्र सिंह तोमर, धर्मेंद्र प्रधान और शिवराज सिंह चौहान शामिल रहे। यह मीटिंग सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता के आवास पर हुई है। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस इस मामले को सुप्रीम कोर्ट तक ले जाने की कवायद में है। कांग्रेस का मानना है कि 22 विधायकों को जबरदस्ती धमकाकर कांग्रेस से अलग किया गया है।

उधर मध्य प्रदेश विधानसभा में सोमवार को होने जा रहे फ्लोर टेस्ट के लिए भाजपा ने अपने विधायकों को व्हिप जारी कर दिया है। बीजेपी ने अपने विधायकों को अनिवार्य रूप से उपस्थित होकर भाजपा को बहुमत दिलाने के लिए ये व्हिप जारी किया है। इस बीच कांग्रेस विधायक रविवार सुबह जयपुर से विशेष विमान द्वारा भोपाल पहुंचे। इन सभी को कड़ी सुरक्षा के बीच होटल पहुंचाया गया।

Jyotiraditya Scindia

उधर बेंगलुरु में मौजूद ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक विधायकों ने रविवार सुबह फिर वीडियो जारी कर कहा कि हमने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। हम अपनी स्वेच्छा से यहां आए हुए हैं और किसी ने हमें बंधक नहीं बनाया है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए हमने सीआरपीएफ की सुरक्षा मांगी हैं। सूत्रों के मुताबिक इन विधायकों को भोपाल आने पर सीआरपीएफ की सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।