Connect with us

देश

Illegal Bar Row: स्मृति ईरानी की बेटी से जुड़ा ट्वीट तुरंत करें डिलीट, दिल्ली HC का जयराम-पवन खेड़ा को निर्देश

Smriti Irani Defamation Case: कांग्रेस नेता पवन खेड़ा और जयराम रमेश ने स्मृति ईरानी को लेकर कुछ ट्वीट्स किए थे। जिन पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आपत्ति जताते हुए दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी और शुक्रवार को उसी मामले पर हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए कांग्रेस के नेताओं को निर्देश दिया है कि 24 घंटे के अंदर उन आपत्तिजनक पोस्ट को हटा दें।

Published

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी जोइश ईरानी से जुड़ा ट्वीट करना कांग्रेसी नेताओं को महंगा पड़ गया। दरअसल, स्मृति ईरानी की की तरफ से दायर मानहानि के मुकदमें पर दिल्ली हाईकोर्ट ने कांग्रेस नेता पवन खेड़ा, जयराम रमेश और नेट्टा डिसूजा की मुश्किलें बढ़ा दी है। शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने कांग्रेस के नेताओं को समन जारी किया है। इसके साथ ही कोर्ट ने स्मृति ईरानी की बेटी से संबंधित ट्वीट पर जयराम रमेश और पवन खेड़ा को 24 घंटे के भीतर हटाने का निर्देश भी दिया है। कोर्ट ने ये भी कहा कि, अगर दोनों नेता खुद ट्वीट नहीं हटाते है, तो सोशल मीडिया प्लेटफार्म खुद उस ट्वीट को हटाए। आपको बता दें कि स्मृति ईरानी ने दिल्ली हाईकोर्ट में 2 करोड़ रुपये का मानहानि का मुकदमा दायर किया था। कांग्रेस नेता पवन खेड़ा और जयराम रमेश ने स्मृति ईरानी को लेकर कुछ ट्वीट्स किए थे। जिन पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आपत्ति जताते हुए दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी और शुक्रवार को उसी मामले पर हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए कांग्रेस के नेताओं को निर्देश दिया है कि 24 घंटे के अंदर उन आपत्तिजनक पोस्ट को हटा दें।

union minister smriti irani

यदि नहीं हटाते है तो फिर सोशल मीडिया प्लेटफार्म को निर्देश दिया गया है कि अगर पवन खेड़ा और जयराम रमेश ये ट्वीट नहीं हटाते है तो उन ट्वीट्स को हटाए। चूंकि मानहानि का मुकदमा दायर किया है, लिहाजा मामले की सुनवाई आगे बढे़गी। उसके लिए दोनों ही नेताओं को समन जारी किया गया है कि आखिर इस मानहानि के मुकदमें पर उनका क्या पक्ष है और वो अपना पक्ष कोर्ट के सामने रखे।

वहीं इस मामले में कांग्रेस नेता जयराम रमेश का बयान सामने आया है। जयराम रमेश ने कहा कि, दिल्ली हाईकोर्ट ने हमें स्मृति ईरानी द्वारा दायर मामले का औपचारिक जवाब देने के लिए नोटिस जारी किया है। हम कोर्ट के सामने तथ्यों को पेश करने के लिए उत्सुक हैं। हम स्मृति ईरानी द्वारा डाली जा रही दायर मुकदमें को चुनौती देंगे और खारिज करेंगे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement