Corona vaccine: केंद्र सरकार का लक्ष्य 1 करोड़ टीकाकरण प्रतिदिन, रही यही रफ्तार तो दिसंबर तक कोरोना मुक्त होगा देश

Corona vaccine: देशव्यापी कोरोना टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू किया गया था और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण 2 फरवरी से शुरू हुआ था। कोरोना टीकाकरण के अगले चरण की शुरुआत 1 मार्च से शुरू हुआ था जिसमे 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के साथ 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग जिन्हें गंभीर बीमारी है उनका टीकाकरण शुरू हुआ था। वहीं 1 अप्रैल से 45 साल से ज्यादा उम्र के हर व्यक्ति को टीकाकरण शुरू किया गया था और 1 मई से 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ था।

Avatar Written by: June 21, 2021 7:31 pm
PM Modi Corona Vaccine

नई दिल्ली। कोरोनावायरस के खिलाफ पूरी दुनिया में बचाव का दो ही फॉर्मूला नजर आय़ा। एक तो कोविड के खिलाफ बचाव के लिए उसके अनुरूप तैयार की गई गाइडलाइन के अनुसार आचरण और दूसरा कोरोना टीकाकरण। कोरोना के खिलाफ जंग में इन दोनों ही तरह की चीजों पर हर देश की सरकारों को फोकस रहा। अब दुनिया के पास कोरोना से बचाव का टीका मौजूद है। ऐसे में हर सरकार का प्रयास है कि वह इन टीकों के जरिए आम जनता का टीकाकरण कराकर अपने देश की जनता को इस जानलेवा महामारी के प्रकोप से बचा सके। भारत में कोरोना टीकाकरण की रफ्तार बहुत तेज रही है। इतनी बड़ी आबादी वाले देश में कोरोना का टीकाकरण तेज रफ्तार से किया जा रहा है। देश में 20 करोड़ से ज्यादा लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।


सबसे पहले कोरोना टीकाकरण की शुरुआत देश में फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ की गई। भारत में टीकाकरण को कई चरणों में चलाया जा रहा है। फ्रंटलाइन वर्कर्स के बाद बारी आई देश की वृद्ध आबादी की इसके बाद इसे 45+ के उम्र वालों के लिए खोला गया। और अब इसे 18 साल से ऊपर के सभी लोगों के लिए खोल दिया गया है। देशव्यापी कोरोना टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू किया गया था और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण 2 फरवरी से शुरू हुआ था। कोरोना टीकाकरण के अगले चरण की शुरुआत 1 मार्च से शुरू हुआ था जिसमे 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के साथ 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग जिन्हें गंभीर बीमारी है उनका टीकाकरण शुरू हुआ था। वहीं 1 अप्रैल से 45 साल से ज्यादा उम्र के हर व्यक्ति को टीकाकरण शुरू किया गया था और 1 मई से 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ था।

लेकिन इस कोरोना टीकाकरण को लेकर भी देश में राजनीति अपने सिरे से जारी रही। लोगों को भ्रमित करने का काम भी किया जाता रहा। कोरोना के टीके की उपलब्धता को लेकर भी जमकर राजनीति हुई। केंद्र सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों की राज्य सरकारें मोर्चा खोलकर खड़ी हो गई थी। इसके बाद केंद्र सरकार को इस पूरे टीकाकरण अभियान को अपने हाथ में लेना पड़ा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में इस बात की घोषणा कर दी कि अब केंद्र सरकार ही पूरे देश में हर आयु वर्ग के लोगों का मुफ्त टीकाकरण करवाएगी जिसकी शुरुआत आज विश्व योग दिवस के दिन किया गया है। केंद्र सरकार आज से देश के हर राज्य में 18 साल से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए मुफ्त वैक्सीन मुहैया करा रही है।

सरकार का लक्ष्य प्रतिदिन 1 करोड़ लोगों का होगा टीकाकरण

देश में कोरोना की वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार ने दावा किया कि देश में टीके की कोई कमी नहीं है। जुलाई के मध्य या अगस्त तक देश में लगभग 1 करोड़ लोगों का प्रतिदिन टीकाकरण होगा।

modi vaccine

केंद्र सरकार ने जिस तरह से एक करोड़ लोगों के टीकाकरण का एक दिन का लक्ष्य रखा है अगर इसको इसी तरह जारी रखा गया तो दिसंबर के महीने तक देश की पूरी आबादी का कोरोना टीकाकरण किया जा चुका होगा। देश की पूरा आबादी कोरोना वैक्सीन के दूसरे डोज को भी प्राप्त कर चुकी होगी।

देश में 28 करोड़ से ज्यादा लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन की डोज

देश में अब तक 28 करोड़ से ज्यादा कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक 28,00,36,898 वैक्सीन डोज दी जा चुकी है, इसमें पहली और दूसरी डोज शामिल है।

Corona Vaccine

जानकारी के मुताबिक इन 28,00,36,898 वैक्सीन डोज में से 22,87,41,774 लोगों को पहली डोज लगी है जबकि 5,12,95,124 लोगों को दोनो डोज दी जा चुकी है।

योग दिवस पर रिकॉर्ड टीकाकरण, मध्यप्रदेश में लगे सबसे ज्यादा टीके

corona vaccine

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में सोमवार को अभी तक 69 लाख से ज्यादा टीके लगाए जा चुके हैं। वहीं, राज्यों में टीकाकरण की बात करें तो मध्यप्रदेश सबसे ऊपर है। राज्य में अब तक आठ लाख से अधिक लोगों को कोरोना टीका लगाया जा चुका है। दूसरे स्थान पर कर्नाटक है जहां करीब छह लाख टीके लगाए गए हैं। वहीं, तीसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश है। यहां आज चार लाख से अधिक लोगों को कोरोना रोधी टीके की खुराक लगाई गई है। मध्यप्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण का महाअभियान सोमवार 21 जून से शुरू हो रहा है और सरकार ने पहले दिन 10 लाख लोगों को टीका लगाने के लक्ष्य रखा है। इसके लिए प्रदेश में सात हजार टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं।

आज फ्री वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत के साथ बना रिकॉर्ड

भारत में सोमवार को एक दिन में रिकॉर्ड 75 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई है। देश में 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए कोराना वैक्सीन मुफ्त दिए जाने के पहले दिन ही ये रिकॉर्ड बना है।

Corona Vaccine

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को दी गई जानकारी में कहा गया है कि कोविड वैक्सीनेशन की नई संशोधित गाइडलाइन जारी होने के पहले दिन यह रिकॉर्ड बना है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि सोमवार को शाम तक 75 लाख से ज्यादा वैक्सीन डोज लगाई गई हैं। यह एक दिन में कोविड वैक्सीनेशन का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है। इससे पहले दो अप्रैल को 42 लाख 61 हजार से ज्यादा वैक्सीन डोज लगाई गई थीं।

एक दिन में लग रहा जितना टीका, इतने में तो हो जाएगा कई देशों का पूरा टीकाकरण

Corona Vaccine

भारत में सोमवार को जिस रफ्तार से टीकाकरण हुआ है वह एक-दो नहीं बल्कि कई देशों का टीकाकरण करने के लिए पर्याप्त है। भारत ने आज जितने टीके लगाए उतने में आधे स्वीडन या एक न्यूजीलैंड या दो नामीबिया या चार मॉरीशस या 10 मालदीव या 25 समोआ या 50 सेशेल्स या सौ सेंट किट्स का टीकाकरण किया जा सकता है।

कोरोना वैक्सीन को लेकर यह है केंद्र सरकार की योजना

कोरोना वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार ने इस योजना को तैयार किया है कि टीका उत्पादन का कुल 75 फीसदी हिस्सा केंद्र सरकार खुद ही खरीदेगी और राज्य सरकारों को मुफ्त देगी. बाकी 25 फीसदी वैक्सीन प्राइवेट अस्पताल सीधे निर्माताओं से खरीद सकते हैं। सभी कंपनियों ने वैक्सीन की कीमत निर्धारित की है। प्राइवेट अस्पताल वाले अपने ग्राहकों से एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। इसके साथ ही केंद्र ने स्पष्ट कर दिया है कि राज्य सरकारों को इसकी निगरानी करनी होगी।

Corona vaccine

अभी तक 1 मई से नए संशोधित दिशानिर्देशों के तहत केंद्र उत्पादित वैक्सीन का 50 फीसदी खरीद रही थी। वहीं राज्य सरकार और निजी अस्पतालों को बाकी 50% वैक्सीन कंपनियों से सीधे खरीदने का अधिकार दिया गया था। अब राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण के दिशानिर्देश की समीक्षा और संशोधन किया गया है।

केंद्र ने दी जानकारी राज्यों के पास अभी मौजूद है 3 करोड़ से अधिक कोविड वैक्सीन

PM Modi Vaccine

केंद्र सरकार ने कई राज्यों में कोविड वैक्सीन की कमी के बीच रविवार को घोषणा की है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) के पास अभी भी 3.06 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक उपलब्ध है। इसके अलावा, 24 लाख से अधिक वैक्सीन की खुराक तीन दिन के अंदर उन्हें उपलब्ध करा दी जाएंगी। अभी तक राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को कुल 29.10 करोड़ (29,10,54,050) से अधिक वैक्सीन खुराक प्रदान की गई है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में, केंद्र सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त में कोविड के टीके उपलब्ध कराकर उनका समर्थन कर रही है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost