Connect with us

देश

भारत के इस स्वदेशी स्मार्ट बम से छुटेंगे दुश्मनों के पसीने, 100 किलोमीटर दूरी तक कर सकता है सटीक हमला

Air Force DRDO: ये स्मार्ट बम 100 किलोमीटर दूर भी बैठे दुश्मन को भी खत्म करने की क्षमता रखता है। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, सटीक नेविगेशन प्रणाली की मदद से इस बम को जगुआर विमान के जरिए छोड़ा गया, जिसने 100 किलोमीटर की दूरी तय की।

Published

on

drdo

नई दिल्ली। राजस्थान के जैसलमेर की पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में देश (India) ने स्मार्ट एंटी-एयरफील्ड हथियार का एक और सफल परीक्षण कर लिया है। भारत में बनाए गए इस हथियार का इससे पहले 28 अक्टूबर को भी परीक्षण किया गया था। अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा विकसित बम के इस वर्ग का परीक्षण भारत में पहली बार हुआ है। ये एक ऐसा बम है जिसे मिसाइल की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है और जगुआर फाइटर प्लेन से संचालित किया जा सकता है।

drdo

अचूक है निशाना

अधिकारियों की मानें तो ये बम दूसरे बमों के मुकाबले अलग और खास है क्योंकि इसे लंबी दूरी पर आधारित टारगेट तक गाइड करके निशाने तक पहुंचाया जा सकता है। एक तय सीमा तक इस बम का निशाना अचूक है। डीआरडीओ की मानें तो एक साधारण बम को गिराने के बाद नियंत्रित नहीं किया जा सकता है। लेकिन इसकी खासियत है कि गिराने के बाद भी इस स्मार्ट बम की दिशा और गति को भी बदला जा सकता है। यहीं खासियत इसे अचूक बनाती है और दुश्मन के ठिकाने को खत्म करके ही दम लेता है।

drdo...

100 किमी दूर मौजूद दुश्मन भी होगा खत्म

ये स्मार्ट बम 100 किलोमीटर दूर भी बैठे दुश्मन को भी खत्म करने की क्षमता रखता है। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, सटीक नेविगेशन प्रणाली की मदद से इस बम को जगुआर विमान के जरिए छोड़ा गया, जिसने 100 किलोमीटर की दूरी तय की। इस बम के किए गए दोनों ही परीक्षणों में इस बम ने टारगेट को पूरी सटीकता से हिट किया।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement