Corona: काशी में कोविड-19 की स्थिति पर पीएम मोदी ने की समीक्षा, टेस्टिंग, बेड, वैक्सीन आदि की ली जानकारी

PM Modi Meetin on Varanasi: कोरोना से लड़ने के लिए पीएम मोदी ने ‘Test, Track और Treat’ पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर की तरह भी वायरस से जीतने के लिए यही रणनीति अपनानी होगी।

Avatar Written by: April 18, 2021 2:26 pm
pm modi varanasi

वाराणसी। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोरोना की स्थिति पर जानकारी ली। उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से काशी में कोरोना की वजह से बने हालात की समीक्षा की। बता दें कि काशी को लेकर पीएम मोदी की यह पहली बैठक थी। इस बैठक में पीएम मोदी ने अधिकारियों से वाराणसी में कोरोना के मामले, मरीजों के लिए बेड, लोगों को लगने वाली वैक्सीन संबंधित जानकारियां लीं। इस बैठक में वाराणसी में को‍विड से लड़ने में जुटे आला अधिकारी, स्थानीय प्रशासन और डॉक्टर मौजूद रहे। इस समीक्षा बैठक के दौरान पीएम मोदी ने कोरोना संक्रमण काल में लगातार लोगों की सेवा कर रहे कर्मचारियों की प्रशंसा की। उन्होंने मेडिकल टीम का उत्‍साहवर्धन भी किया। लगभग आधे घंटे से अधिक की परिचर्चा के दौरान जिले के कोरोना वायरस संक्रमण के हालात से पीएम अवगत हुए और आवश्‍यकताओं के बाबत अधिकारियों से परिचर्चा की।

PM Narendra Modi

पीएम मोदी को अधिकारियों ने वाराणसी में कोरोना वायरस संक्रमण की मौजूदा स्थिति से अवगत कराया। इसके अलावा पीएम मोदी को ये भी जानकारी दी गई कि, प्रशासन की ओर से लोगों की सुविधा के लिए क्या प्रयास किए जा रहे हैं? वहीं लॉकडाउन, चिकित्‍सा और जांच के अलावा दवाओं की उपलब्‍धता पर भी बैठक में चर्चा हुई। इस पर पीएम ने अधिकारियों से जरूरतों को लेकर भी सवाल किए। अधिकारियों ने बेडों की उपलब्‍धता और चिकित्‍सा कर्मचारियों की सेहत और सुरक्षा उपाय पर भी मंथन किया।

बैठक में पीएम मोदी ने जोर दिया कि, वाराणसी के लोगों को हर संभव सहायता की जाए। किसी चीज की कमी ना हो। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बैठक के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा कोरोना से बचाव तथा कोरोना संक्रमित मरीजों के समुचित उपचार के लिए टेस्टिंग, बेड, दवाइयां, वैक्सीन तथा मैन पावर आदि की जानकारी ली गई। उन्होंने जनता को हर संभव सहायता तुरंत उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।

PM Narendra Modi

चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी खास तौर पर कोरोना के प्रसार को कम करने के मंत्र ‘‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी‘‘ का पालन करने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री ने वैक्सीनेशन अभियान के महत्त्व पर बल देते हुए कहा कि प्रशासन 45 साल से ज्यादा की उम्र के सभी लोगों को इस हेतु जागरूक करें। जनता के प्रति पूरी संवेदना दिखाते हुए उनकी मदद करने को लेकर पीएम मोदी ने निर्देश दिए। प्रधानमंत्री ने देश के सभी डॉक्टरों, सभी मेडिकल स्टाफ का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना काल की इस संकट की घड़ी में भी आप सब अपने कर्त्तव्य का निष्ठापूर्ण पालन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें पिछले साल के अनुभवों से सीखते हुए सतर्क रहकर आगे बढ़ना है।

कोरोना काल से निपटने के लिए पीएम मोदी ने कहा कि, वो लगातार जनता से इस संबंध में फीडबैक ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि वाराणसी में पिछले 5-6 वर्षों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना से लड़ने में काफी मदद मिली है। इसके साथ वाराणसी में बेड्स, आईसीयू और ऑक्सीजन की उपलब्धता को बढ़ाया जा रहा है। कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, ऐसे में उससे उत्पन्न हुए दबाव को देखते हुए हर स्तर पर प्रयास बढ़ाने की जरुरत पर भी पीएम मोदी ने विशेष बल दिया। उन्होंने कहा कि जिस तरह वाराणसी प्रशासन ने तेजी के साथ ‘काशी कोविड रिस्पोन्स सेन्टर’ स्थापित किया है, वैसी ही तेजी हर कार्य में लायी जानी चाहिए।

कोरोना से लड़ने के लिए पीएम मोदी ने ‘Test, Track और Treat’ पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर की तरह भी वायरस से जीतने के लिए यही रणनीति अपनानी होगी। उन्होंने संक्रमित व्यक्तियों की कांटैक्‍ट ट्रेसिंग और टेस्‍ट रिपोर्ट को जल्द से जल्द उपलब्ध कराने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि, होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों और उनके परिवार के प्रति संवेदनशीलता दिखाई जाय।

Support Newsroompost
Support Newsroompost