Connect with us

देश

#BoycottAmazon: ‘जागो हिंदू जागो…ऐसी कंपनियों का बंद होना जरूरी..’, सोशल मीडिया पर शुरू हुआ अमेजन का विरोध

#BoycottAmazon: दरअसल राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ( NCPCR) के चेयरमैन प्रियंक कानूनगो ने अमेजन कंपनी को 2 दिन पहले समन भेजा और 1 नवंबर तक कंपनी को जवाब देने के लिए कहा है

Published

नई दिल्ली। अमेजन इंडिया बहुत बड़ी ई-शॉपिंग साइट है जिससे देश भर के कोने-कोने से लोग अपनी पसंद की चीजों को खरीदते हैं। हालांकि कई बार अमेजन पर हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान करने का आरोप लग चुका है। अब कंपनी पर देश के खिलाफ आपराधिक गतिविधियां करने वाली संस्थाओं को डोनेशन देने का आरोप लगा है। जिसकी वजह से कंपनी को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ( NCPCR) के चेयरमैन प्रियंक कानूनगो ने समन भी भेजा है। कंपनी को अब 1 नवंबर को पेश आयोग के सामने पेश होना है। सोशल मीडिया पर इस वक्त #बॉयकॉटअमेजन ट्रेंड कर रहा है और यूजर्स अमेजन से खरीदारी नहीं करने के लिए कह रहे हैं।

यूजर्स ने किया अमेजन का बॉयकॉट

यूजर्स का कहना है कि अमेज़न धर्मांतरण और भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल है और जो हमारे देश को नुकसान पहुंचाने का काम करेगा, इसलिए सभी हिंदू लोग अमेजन से सामान खरीदने का विरोध करते हैं। एक यूजर ने अपनी राय रखते हुए कहा कि आप अमेज़न से जो कुछ भी खरीदते हैं, उसका एक हिस्सा अखिल भारतीय मिशन को जाता है, एक इंजील संगठन जिसका मुख्य उद्देश्य हिंदू बच्चों को परिवर्तित करना है। अब हमें तय करना है कि इस ईसाई मिशनरी संगठन AMAZON का क्या करना है।एक अन्य यूजर ने लिखा- ओ’ हिंदू जागो #NCPCR ने भारत में धर्म परिवर्तन में शामिल एक #क्रिश्चियन एनजीओ को फंडिंग करने पर अमेज़न इंडिया को नोटिस जारी किया है। सरकार को ऐसी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। ऐसे तमाम तरह के कमेंट्स इस वक्त सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे हैं।

 

क्या है पूरा मामला

दरअसल राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ( NCPCR) के चेयरमैन प्रियंक कानूनगो ने अमेजन कंपनी को 2 दिन पहले समन भेजा और 1 नवंबर तक कंपनी को जवाब देने के लिए कहा है। चेयरमैन प्रियंक कानूनगो ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि 2 महीने पहले शिकायत आई थी कि कंपनी अपने बायर्स से डोनेशन कलेक्ट कर रही है और डोनेशन अनाथ बच्चों की मदद के नाम पर मांगा जा रहा है। ये डोनेशन ऑल इंडिया मिशन को भेजा जा रहा है जो अनाथ हिंदू बच्चों को बहला-फुसलाकर ईसाई बनाने का काम कर रही हैं। विवाद सामने आने के बाद कंपनी पर बड़ा एक्शन लिया जाएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement