Connect with us

देश

PM Modi: आखिर कौन हैं ये महिला? जिसे सम्मान देने के लिए PM मोदी ने जोड़े अपने दोनों हाथ

उमा सचदेवा का सेना से विशेष लगाव है। उनका परिवार के अधिकांश लोग सेना से जुड़े हुए हैं। जहां उनके पति सेना में कर्नल पद पर रह चुके हैं, तो वहीं उनका भतीजा सेना प्रमुख सरीखा सार्वगर्भित पद की जिम्मेदारी भी संभाल चुका है। ऐसी स्थिति में सेना में उमा सचदेवा के परिवार के उल्लेखनीय योगदान के बारे में सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

Published

on

PM Modi

नई दिल्ली। आज की तारीख में एक ही समय में असंख्य लोगों से मुखातिब होने के लिए सोशल मीडिया निहायत ही मुफीद मंच के रूप में उभरकर सामने आ रहा है। हर राजनेता अपने सियासी हित को ध्यान में रखते हुए सोशल मीडिया का भरपूर उपयोग करते हैं। इसी कड़ी में सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की सक्रियता भी किसी से कम नहीं है। आए दिन कभी अपने किसी ट्वीट तो कभी अपनी किसी तस्वीर को लेकर सुर्खियों के सैलाब में सराबोर ही रहते हैं। अब इसी बीच वे अपने एक ऐसी ही तस्वीर को लेकर सुर्खियों में आ गए हैं, जिसे उन्होंने खुद ही अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किया है। इस तस्वीर में पीएम मोदी एक महिला के समक्ष उन्हें सम्मान देने हेतु अपने दोनों हाथ जोड़ते हुए नजर आ रहे हैं। ऐसी स्थिति में लोगों के जेहन में इस बात को लेकर आतुरता अपने चरम पर पहुंच चुकी है कि आखिर तस्वीर में दिख रही यह महिला कौन है, जिसके सामने पीएम मोदी हाथ जोड़ते हुए नजर आ रहे हैं। आइए, आगे आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

आत्मीयतापूर्ण मुलाकात

बता दें कि पीएम मोदी द्वारा साझा की गई तस्वीर में दिख रही महिला का नाम उमा सचदेवा है। उमा के पति सेना में कर्नल के पद पर तैनात थे। 90 वर्षीय उमा से पीएम मोदी ने मुलाकात पर अपना हर्ष व्यक्त किया है। जिसमें उन्होंने कहा कि उमा से उनकी मुलाकात बेहद ही आत्मीयतापूर्ण रही है। पीएम मोदी ने कहा कि 90 वर्ष की आयु में उमा उन्हें जोश से लबरेज दिखी रही हैं, जिसे देखकर उनका हदय प्रसन्न हो गया है। पीएम मोदी ने आगे कहा कि आमतौर पर देखा जाता है कि बढ़ती उम्र के साथ लोगों का जोश कम हो जाता है, लेकिन उमा की स्थिति में ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। उनसे मिलकर मुझे लगा कि मैं किसी युवती से मिल रहा हूं। राष्ट्र के लिए उनके अंदर कुछ करने गुजरने का जज्बा अभी-भी उनमे विद्दमान है, जिसके लिए मैं निशब्द हूं। बता दें, उमा सचदेवा ने पीएम मोदी से विभाजन दिवस को ‘स्मृति दिवस’ के रूप में मनाने का आह्वान किया है। इस दौरान उमा ने पीएम मोदी से विभाजन के दौरान की हदय विदारक घटनाओं को साझा भी किया। उमा ने खुद बताया कि उन दिनों कैसे लोगों को मुख्तलिफ दुश्वारियों का सामना करना पड़ा था।

सेना से है विशेष जुड़ाव

उमा सचदेवा का सेना से विशेष जुड़ाव है। उनके परिवार के अधिकांश लोग सेना से जुड़े हुए हैं। जहां उनके पति सेना में कर्नल पद पर रह चुके हैं, तो वहीं उनका भतीजा सेना प्रमुख सरीखा सार्वगर्भित पद की जिम्मेदारी भी संभाल चुका है। ऐसी स्थिति में सेना में उमा सचदेवा के परिवार के उल्लेखनीय योगदान के बारे में सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। बता दें, पीएम मोदी द्वारा ट्विटर पर साझा की गई तस्वीर अभी खासा सुर्खियों में है। लोग इस पर अलग-अलग तरह से अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नजर आ रहे हैं। ध्यान रहे कि पीएम मोदी ट्विटर पर अपनी गतिविधियों को लेकर सुर्खियों के सैलाब में सराबोर रहते ही हैं। अब ऐसी स्थिति में बतौर पाठक आपका इस पूरे मसले पर क्या कुछ कहना है। आप हमें कमेंट कर बताना बिल्कुल भी मत भूलिएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement