Uttarakhand: उत्तराखंड पुलिस को मिला पहला महिला कमांडो दस्ता, बना देश का चौथा राज्य, CM त्रिवेन्द्र ने की मुलाकात

Uttarakhand: मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, कि प्रदेश में महिला कमांडो फोर्स एवं स्मार्ट चीता पुलिस का आज शुभारंभ किया। महिला कमांडो फोर्स एवं स्मार्ट चीता पुलिस का शुभारंभ करने वाला उत्तराखंड चौथा राज्य बन गया है। समाज में जिस तरह से बदलाव हो रहे हैं उस दृष्टि से यह बेहद जरूरी है कि महिलाओं को स्वावलंबी और साहसी बनाया जाए।

Avatar Written by: February 25, 2021 8:35 am

नई दिल्ली। बुधवार को उत्तराखंड पुलिस में पहला महिला कमांडो दस्ता शामिल हो गया है। बता दें कि उत्तराखंड देश का चौथा राज्य है, जहां पुलिस में महिला कमांडो दस्ते को शामिल किया गया है। इसकी जानकारी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत (CM Trivendra Singh Rawat )ने ट्विटर के जरिए दी। इसके साथ ही त्रिवेन्द्र सिंह रावत से बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में उत्तराखंड की महिला कमांडो फोर्स एवं स्मार्ट चीता पुलिस की महिला जवानों ने शिष्टाचार भेंट की। इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, कि प्रदेश में महिला कमांडो फोर्स एवं स्मार्ट चीता पुलिस का आज शुभारंभ किया। महिला कमांडो फोर्स एवं स्मार्ट चीता पुलिस का शुभारंभ करने वाला उत्तराखंड चौथा राज्य बन गया है। समाज में जिस तरह से बदलाव हो रहे हैं उस दृष्टि से यह बेहद जरूरी है कि महिलाओं को स्वावलंबी और साहसी बनाया जाए।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, सिर्फ़ रोजगार देकर महिलाओं को सशक्त नहीं बनाया जा सकता,उन्हें शारीरिक दृष्टि से भी सक्षम बनाना होगा।इसके लिए प्रदेश के सभी स्कूलों-कालेजों में छात्राओं के आत्मरक्षा के प्रारंभिक प्रशिक्षण की रूपरेखा तैयार करने के निर्देश दिए हैं। जय हिंद।

बता दें कि इससे पहले नागालैंड, केरल और पश्चिम बंगाल में महिला कमांडो दस्ते पुलिस में शामिल किए जा चुके हैं। जानकारी के लिए बता दें कि अभी तक यह सिर्फ पुरुष पुलिस कर्मियों को ही दिया जाता रहा है। यह फोर्स आतंकवाद से निपटने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। लेकिन अब इसके लिए पुलिस महकमा महिला पुलिस कर्मियों को भी तैयार कर रहा है। महिला कमांडो फोर्स तैयार करने के लिए पीटीसी में पहली बार महिला पुलिस दस्ते को कमांडो का प्रशिक्षण दिया गया है। इस दस्ते में 22 महिला पुलिस कर्मी शामिल हैं, जिसमें दो महिला एसआई और 20 महिला कांस्टेबल शामिल हैं।

बता दें कि पीटीसी में महिला पुलिस कमांडो फोर्स को भारत की सबसे अहम कमांडो फोर्स नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) की तर्ज पर प्रशिक्षण दिया गया है।

 

 

Support Newsroompost
Support Newsroompost