Connect with us

रिलेशनशिप

अनसुनी कहानियां: शादी के 45 साल बाद पत्नी नहीं डालती है घास, इस बात को लेकर देती है ताना

अनसुनी कहानियां: पैसा ऐसी चीज है जो रिश्तों में मिठास को निर्धारित करता है। पैसों की कमी की वजह से कई रिश्तों को टूटते हुए देखा है और कई रिश्तों में प्यार खत्म हो गया।

Published

नई दिल्ली। जिंदगी में एक पड़ाव ऐसा आता है जब लगता है कि साथ रहकर भी दो लोग दोस्त की तरह रह रहे हैं। बढ़ती उम्र के बाद प्यार समझदारी में बदल जाता है लेकिन कभी-कभार पैसा सब कुछ बिगाड़ देता है। पैसा ऐसी चीज है जो रिश्तों में मिठास को निर्धारित करता है। पैसों की कमी की वजह से कई रिश्तों को टूटते हुए देखा है और कई रिश्तों में प्यार खत्म हो गया। आज हम एक ऐसी ही कहानी लेकर आए हैं जिसमें पैसों की वजह से रिश्ते टूटने की कगार पर पहुंच गया है। तो चलिए पाठक संतोष(बदला हुआ नाम ) से उन्हीं की कहानी जानते हैं।

पैसों के लिए ताने मारती है पत्नी

संतोष का कहना है कि वो ज्यादा पड़े लिखे नहीं हैं और उन्होंने उसी लड़की से शादी की, जिसे माता-पिता ने पसंद किया। संतोष ने बताया कि उन्होंने बिना लड़की देखे शादी की थी और शादी के बाद पता चला कि उसका एक दांत नकली है और एक हाथ ठीक से काम भी नहीं करता है। फिर भी मैंने बिना किसी कमी के रिश्ते को निभाया। हमारी शादी को 45 साल हो चुके हैं और उम्र के इस पड़ाव पर आकर हमारे बीच रिश्ते में खटास आ गई है। मेरी पत्नी पैसा-पैसा करती रहती है, ऐसा नहीं है कि घर में कभी किसी चीज की दिक्कत रही हो लेकिन मैंने अभी घर लिया है और मैं उसकी किस्त चुका रहा हूं लेकिन मेरी पत्नी को सिर्फ पैसा चाहिए। उसके शौक पूरे करने के लिए ही मैंने कार बेच दी लेकिन फिर भी वो मुझसे बात नहीं करती है। मैं क्या करूं

बच्चों से करें बात

इस मामले पर एक्सपर्ट का कहना है कि पति के सच्चे होने का पता पत्नी के बीमारी के समय लगता है और पत्नी के सच्चे होने का पता पति की गरीबी आने पर लगता है, क्योंकि दोनों ही परिस्थितियों में इंसान खुद को मजबूर महसूस करता है। सबसे पहले आप अपने बच्चों से इस बारे में बात करें कि आप खुद को कितना अकेला महसूस कर रहे हैं, साथ ही उनसे आर्थिक रूप से सहायता भी लें, क्योंकि आपने बच्चों को अपनी मेहनत से इस लायक बनाया है। जब बच्चे आपका साथ देंगे तो पत्नी भी आपकी मजबूरी को समझेगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement