Connect with us

रिलेशनशिप

अनसुनी कहानियां: नहीं करनी किसी भी लड़की से शादी, लेकिन परिवार बना रहा दबाव, क्या करूं….

अनसुनी कहानियां: सुकेश का कहना है कि वो शादी नहीं करना चाहते हैं क्योंकि वो ब्रेकअप के दर्द से गुजर रहे हैं। सुकेश ने बताया कि मैं 26 साल का हूं और एक विदेश की एक आईटी कंपनी में काम करता हूं..। मेरी अच्छी-खासी नौकरी है।

Published

on

नई दिल्ली। शादी करना या नहीं करना..ये शख्स का अपना व्यक्तिगत मामला होता है। इसके पीछे कोई न कोई वजह जरूर होती है। कई बार घरवाले और समाज के दबाव में आकर लोग शादी करने का फैसला ले लेते हैं लेकिन फिर आगे जाकर चीजें बिगड़ जाती है। ऐसी ही परेशानी से हमारे पाठक सुकेश (बदला हुआ नाम) गुजर रहे हैं। सुकेश शादी नहीं करना चाहते हैं लेकिन उनका परिवार उन पर शादी करने के लिए जोर दे रहा है। पाठक कुछ सवालों में उलझकर रह गए हैं। तो चलिए पहले पाठक का सवाल जानते हैं।

नहीं करना चाहते हैं शादी

सुकेश का कहना है कि वो शादी नहीं करना चाहते हैं क्योंकि वो ब्रेकअप के दर्द से गुजर रहे हैं। सुकेश ने बताया कि मैं 26 साल का हूं और एक विदेश की एक आईटी कंपनी में काम करता हूं..। मेरी अच्छी खासी नौकरी है इसी वजह से मैं अपनी गर्लफ्रेंड को टाइम नहीं दे पाया और हमारा ब्रेकअप हो गया। ब्रेकअप के दर्द के बीच मेरा परिवार चाहता है कि मैं शादी कर लूं। लेकिन मैं अपने परिवार से कैसे कहूं कि मुझे किसी से भी शादी नहीं करनी है। मैं 9-5 की नौकरी में खुद को बर्बाद नहीं करना चाहता हूं बल्कि गरीबों की मदद कर उनके लिए कुछ करना चाहता हूं। मुझे शादी करना, घर बसाना सब कुछ बेकार लगने लगा है। मैं क्या करूं.. ।

सोच-विचार कर लें फैसला

इस मामले पर एक्सपर्ट का कहना है कि एक बार धोखा मिलने के बाद शादी नहीं करने का फैसला गलत है। क्योंकि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है और वो कभी भी अकेला नहीं रह सकता है। ऐसे में सबसे पहले आप अपनी गर्लफ्रेंड के गम से गम से बाहर निकलने की कोशिश करें। दूसरा आपके माता-पिता आपके लिए जो भी फैसला लेंगे,वो सहीं होगा। एक बार अपने माता-पिता की बात पर विचार करके देखें। तीसरी बात अगर आप गरीबों की मदद करना और उनके लिए कुछ करना चाहते हैं तो आप परिवार बसाकर भी किसी एनजीओ के जरिए लोगों की मदद कर सकते हैं। ये बात अपने दिमाग से निकाल दीजिए कि शादी के साथ साथ आप समाज सेवा नहीं कर सकते हैं। हालांकि शादी का आखिरी फैसला आपका है।जो भी फैसला लें वो मन पक्का करके लें। क्योंकि फैसला आपकी जिंदगी से जुड़ा हुआ है और ऐसे में  आप सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले हैं। इसलिए जो भी फैसला ले और बहुत सोच-विचार करने के बाद ही लें।

Advertisement
Advertisement
Advertisement