Connect with us

रिलेशनशिप

Unfiltered Relationship: मैं उससे बहुत प्यार करता हूं लेकिन उसकी ऑफिस कलीग के साथ बढ़ती नजदीकियां मुझे परेशान करती हैं? मैं क्या करूं…?

Unfiltered Relationship: संजय का कहना है कि वो काफी सालों से एक लड़की के साथ लिव-इन-रिलेशनशिप में रहे हैं। वो अपनी गर्लफ्रेंड से बहुत ज्यादा प्यार करते हैं और उन्हीं के साथ ही अपना भविष्य आगे देखते हैं

Published

on

नई दिल्ली।आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में समय निकाल पाना बहुत मुश्किल है। ऐसे में अपने प्यार के लिए भी समय निकाल पाना मुश्किल हो जाता है। जिसके बाद दूरी और रिश्तों में खराबी आ जाती हैं।ज्यादातर युवा समस्याओं को खत्म करने से ज्यादा रिश्ते को ही खत्म करना बेहतर विकल्प समझते हैं। आज एक पाठक(सचिन, बदला हुआ नाम) ऐसी ही समस्या लेकर आए हैं जो अपनी गर्लफ्रेंड के ऑफिस कलीग से ज्यादा मेलजोल से परेशान हैं और वो रिश्ते को आगे नहीं बढ़ाना चाहते हैं। जो चलिए पहले उनका सवाल समझते हैं।

वो उसके साथ खुश रहती है..

संजय का कहना है कि वो काफी सालों से एक लड़की के साथ लिव-इन-रिलेशनशिप में रहे हैं। वो अपनी गर्लफ्रेंड से बहुत ज्यादा प्यार करते हैं और उन्हीं के साथ ही अपना भविष्य आगे देखते हैं। संजय का कहना है कि अचानक मेरी गर्लफ्रेंड की बातचीत उसके ऑफिस कलीग से बढ़ गई है। वो उसके साथ बाते करती है, खुश रहती है। वो ऑफिस कलीग भी उसके लिए खाना लेकर आता और वो दोनों बाहर भी जाते हैं। कितनी बार तो वो हमारे घर भी आया है। दोनों को साथ देखकर मुझे बिल्कुल अच्छा नहीं लगता है और मैं असहज महसूस करता हूं..। इन चीजों को लेकर हमारे बीच कई बार झगड़ा हो चुका है लेकिन वो कहती है कि दोनों के बीच प्यार जैसा कुछ नहीं हैं…मुझे उसपर भरोसा भी है लेकिन मन में घबराहट रहती है कि कल को वो मुझे छोड़ न दे। मैं क्या करूं।

एक्सपर्ट्स की राय

इस सवाल पर एक्सपर्ट का कहना है कि आमतौर पर रिलेशनशिप में असुरक्षा की भावना आ जाती है लेकिन इसे अपने ऊपर हावी नहीं होने देना चाहिए। इससे रिश्ते खराब हो सकते हैं। ऐसे में आपको अपनी गर्लफ्रेंड पर भरोसा करना होगा और उसके मन को भी टटोला होना। आपको पास दोनों के रिश्ते को लेकर सबूत नहीं है..और बिना सबूत के शक करना बेकार है और शक का कोई इलाज भी नहीं होता है।कल को अगर आपकी गर्लफ्रेंड किसी और मर्द से बात करती है तो ये भावना आपका दोबारा घेर लेगी। ऐसे में आपको उन पर भरोसा करना होगा। भरोसा मजबूत होते ही रिश्ता खुद-बा-खुद मजबूत हो जाएगा

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement