जिम में भी है आपको कोरोना वायरस का खतरा, इन तरीकों से करें बचाव

कोराना वायरस ने पूरे भारत को अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। जहां भारत में इस वायरस से 107 लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं दूसरी ओर 2 लोगों की इससे मौत भी हो गई है।

Written by: March 15, 2020 3:36 pm

कोराना वायरस ने पूरे भारत को अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। जहां भारत में इस वायरस से 107 लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं दूसरी ओर 2 लोगों की इससे मौत भी हो गई है। हालांकि सरकार ने कोरोना वायरस से बचने के लिए कई एडवायजरी भी जारी की है, जिनमें लोगों को कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं। कोरोना वायरस से बचने के लिए भीड़भाड़ वाली जगहों पर जानें से इनकार किया गया है।

gym-insurance-health

देखा जाए तो जिम भी एक पब्लिक प्लेस है। जहां काफी संख्या में लोग आते हैं और जिम इक्विपमेंट का इस्तेमाल करते हैं। इन्हीं इक्विपमेंट को इस्तेमाल कर किसी इन्फेक्टेड व्यक्ति से यह वायरस स्वस्थ व्यक्ति को होने का खतरा बढ़ जाता है। वर्क आउट करने के बाद हम बहुत थक जाते हैं, जिससे पसीना आने लगता है और फिर हम अपने हाथों से अपने फेस को टच करते हैं। इससे संक्रमण के फैलने की संभावना बढ़ जाती है। बता दें कि कोरोना वायरस हमारे मुंह, नाक और आंखों के माध्यम से शरीर में प्रवेश करता है। ऐसे में आपको जिम जाते वक्त भी कई बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि आप इस वायरस से बच सकें।

जिम जाने के समय अपने साथ तौलिया जरूर ले जाएं और इसी का इस्तेमाल करें। इसे रोजाना बदलें।

रोजाना अपने जिम के कपड़े को बदलें। जब जिम के गेटअप में रहे तो न सोएं और न खाएं।

हमेशा अपने साथ हैंड सैनिटाइज़र रखें, जिसमें कम से कम 60 फीसदी अल्कोहल हो।

किसी भी जिम इक्विपमेंट को टच करने के बाद अपने फेस को न छुएं।

जिम में वर्क आउट करने के बाद गर्म पानी से नहाएं। अगर आप देखते हैं कि जिम में कोई व्यक्ति बीमार है तो उससे कम से कम 3 फ़ीट अथवा एक मीटर की दूरी बनायें रखें।

अगर हो सके तो जिम जाने से परहेज करें।

अगर सर्दी खांसी की समस्या हो तो घबराएं, नहीं बल्कि तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

Coronavirus

वहीं इस महामारी से अबतक तकरीबन 5 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। बता दें कि कोरोना वायरस का पहला केस 31 दिसंबर 2019 के दिन चीन के शहर वुहान में दर्ज किया गया था। उस दिन से लेकर आज तक इस महामारी से तकरीबन 5 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, लाखों लोग इससे संक्रमित हैं, जिनका इलाज किया जा रहा है।