2021 में भारत में होगा टी 20 विश्व कप, ICC ने किया बड़ा ऐलान

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) की बैठक में बड़ा फैसला लिया गया है। इसके तहत 2021 में होने वाला टी 20 विश्व कप अपने तय कार्यक्रम के अनुसार भारत में ही खेला जाएगा, जबकि इसके बाद 2022 में इस टूर्नामेंट का अगला संस्करण ऑस्ट्रेलिया में होगा।

Avatar Written by: August 7, 2020 8:23 pm

नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) की बैठक में बड़ा फैसला लिया गया है। इसके तहत 2021 में होने वाला टी 20 विश्व कप अपने तय कार्यक्रम के अनुसार भारत में ही खेला जाएगा, जबकि इसके बाद 2022 में इस टूर्नामेंट का अगला संस्करण ऑस्ट्रेलिया में होगा। यह फैसला आज शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपन्न हुई आईसीसी कीा बैठक में लिया गया।

T 20 World cup Trophy

इस साल 18 अक्टूबर से ऑस्ट्रेलिया में आईसीसी विश्व टी-20 का आयोजन किया जाना था, लेकिन कोरोना महमारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसे स्थगित कर दिया गया, जिसके बाद ही इंडियन प्रीमियर लीग के आयोजन को लेकर रास्ता साफ हुआ जो यूएई में 19 सितंबर से खेली जाएगी।

आईसीसी महिला विश्व कप 2021 एक साल तक के लिए स्थगित

न्यूजीलैंड में अगले साल होने वाले आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप 2021 को कोरोना वायरस महामारी के कारण फरवरी-मार्च 2022 तक के लिए स्थगित कर दिया है। साथ ही पुरुष टी 20 विश्व कप को लेकर भी अहम फैसला लिया गया है। 2021 में होने वाले टी 20 विश्व कप अब भारत में होगा जबकि 2022 के टूर्नामेंट की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया करेगी।

ICC

आईसीसी ने एक बयान में कहा कि दुनिया भर में कोविड-19 के स्वास्थ्य, क्रिकेट और वाणिज्यिक प्रभाव को ध्यान में रखते हुए एक व्यापक आकस्मिक नियोजन अभ्यास के बाद आईबीसी (आईसीसी की वाणिज्यिक सहायक) द्वारा यह निर्णय लिया गया है। आईसीसी के कार्यकारी चेयरमैन इमरान ख्वाजा ने कहा, ” पिछले कुछ महीनों में जैसा कि हमने विचार किया है कि हम वैश्विक घटनाओं का मंचन कैसे करते हैं, आईसीसी की घटनाओं में शामिल सभी लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा की रक्षा करना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता रही है।”

उन्होंने कहा, “बोर्ड ने आज जो फैसला लिया, वे खेल, हमारे भागीदारों और महत्वपूर्ण रूप से हमारे प्रशंसकों के हित में हैं। मैं बीसीसीआई, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और क्रिकेट न्यूजीलैंड के साथ-साथ ऑस्ट्रेलियाई और न्यूजीलैंड में अपने सहयोगियों को आईसीसी टूर्नामेंटों में सुरक्षित वापसी के लिए उनकी निरंतर समर्थन और प्रतिबद्धता के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।”