Connect with us

खेल

Commonwealth Games 2022: नीरज चोपड़ा के बाहर होने के बाद ये खिलाड़ी होंगी बर्मिंघम में भारत की ध्वजवाहक, दो बार रह चुकी हैं ओलंपिक चैंपियन

Commonwealth Games 2022: भारत के लिहाज से इससे ही जुड़ी एक अहम खबर सामने आ रही है। दरअसल, पहले बताया गया था कि ओपनिंग सेरेमनी में भारत की तरफ से ध्वजवाहक जैवलीन थ्रोअर नीरज चोपड़ा संभालने वाले हैं।

Published

on

Olampic

नई दिल्ली। 28 जुलाई से इंग्लैंड के बर्मिंघम में कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 की शुरुआत होने वाली है। भारत के लिहाज से इससे ही जुड़ी एक अहम खबर सामने आ रही है। दरअसल, पहले बताया गया था कि ओपनिंग सेरेमनी में भारत की तरफ से ध्वजवाहक जैवलीन थ्रोअर नीरज चोपड़ा संभालने वाले हैं। लेकिन वो चोट के चलते राष्ट्रमंडल खेलों से बाहर हो गए हैं। ऐसे में अब उनकी जगह स्टार बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधु भारत की तरफ से ओपनिंग सेरेमनी में ध्वजवाहक होने वाली हैं। इस बात की जानकारी इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन की तरफ से दी गई।

pv sindhu

आईएओ ने बताया कि कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत की तरफ से ओपनिंग सरेमनी में ध्वजवाहक के तौर पर पीवी सिंधु का नाम तय किया गया है। बता दें कि पीवी सिंधु दो बार ओलंपिक की चैंपियन रह चुकी हैं। पीवी सिंधु को भारत की तरफ से ध्वजवाहक बनाए जाने के बाद भारतीय ओलंपिक संघ ने अपने बयान में कहा कि, “दो बार ओलंपिक पदक विजेता शटलर पीवी सिंधु को बर्मिंघम 2022 खेलों के उद्घाटन समारोह में टीम इंडिया के ध्वजवाहक के रूप में घोषित करते हुए हमें खुशी हो रही है।”

Advertisement
Advertisement
देश6 hours ago

Gujarat News : ‘बोला विरमगाम, योगी जी को जय श्रीराम’, रोड शो में केसरिया फहरा, यूपी के बाबा का जोरदार इस्तकबाल

Imran Khan 123
दुनिया6 hours ago

Imran Khan : रावलपिंडी में जनसभा के दौरान नवाज परिवार पर बरसे इमरान खान, पाकिस्तान की सभी विधानसभाओं से PTI के इस्तीफे का किया ऐलान

देश7 hours ago

Politics : रेवड़ी संस्कृति’ की राजनीति बंद हो, शिक्षा केन्द्रित राजनीति नए भारत का मुद्दा होगी : याज्ञवल्क्य शुक्ल

देश8 hours ago

RTI On Imam’s Salary : ‘हिंदुओं के साथ विश्वासघात’ है इमामों को सैलरी दिया जाना, दिल्ली सरकार के फैसले पर क्यों भड़के केंद्रीय सूचना आयुक्त?

देश9 hours ago

Gujarat: गुजरात चुनाव के बीच वनवासी व आदिवासी मसले पर जंग, राहुल के बयान से गरमाई सियासत; जानिया क्या है पूरा बवाल

Advertisement