फॉर्म के सवाल पर बिफरे मशरफे मुर्तजा

बांग्लादेश और जिम्बाब्वे के बीच रविवार से तीन मैचों की वनडे सीरीज की शुरुआत हो रही है और सभी की नजरें बांग्लादेश के कप्तान मशरेफ मुर्तजा पर हैं जिन्होंने अपना अंतिम मैच पिछले साल इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप में खेला था।

Avatar Written by: March 1, 2020 12:51 pm

सिलहट। बांग्लादेश और जिम्बाब्वे के बीच रविवार से तीन मैचों की वनडे सीरीज की शुरुआत हो रही है और सभी की नजरें बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा पर हैं जिन्होंने अपना अंतिम मैच पिछले साल इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप में खेला था। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) के मुखिया नजमुल हसन ने ऐसे संकेत दे दिए हैं कि 36 साल का यह खिलाड़ी हो सकता है कि आखिरी बार टीम की कप्तानी करे।

Mashrafe Mortaza

मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में जब पूछा गया कि क्या विश्व कप में वह अपनी फॉर्म पर शर्मिदा हैं? इस पर यह अनुभवी खिलाड़ी गुस्सा हो गया। उन्होंने कहा, “मैं क्यूं शर्मिदा होऊंगा? क्या मैं चोर हूं? क्या मैंने मैदान चुराया है? क्या मैं चोर हूं? क्रिकेट खेलते समय मैं इस शर्मिदा होने या आत्म सम्मान जैसी चीजों को जोड़ने की बात को समझ नहीं पाता।”

Mashrafe Mortaza

उन्होंने कहा, “ऐसे लोग हैं जो चोर हैं और धोखेबाज भी। क्या वो इस बात पर शर्मिदा नहीं है कि वो क्या कर रहे हैं? अगर मुझे एक मैच में विकेट नहीं मिलते हैं तो मुझे शर्मिदा होना चाहिए? क्या मैं चोर हूं?”

Mashrafe Mortaza

हरफनमौला खिलाड़ी ने कहा, “मुझे विकेट नहीं मिले और फिर इसके बाद आपके लोग और मेरे प्रशंसक भी मेरी आलोचना कर सकते हैं। लेकिन मुझे शर्मिदा होने की जरूरत क्या है? क्या मैं बांग्लोदश के लिए नहीं खेल रहा? क्या मैं किसी और देश के लिए खेल रहा हूं जिसके लिए प्रदर्शन न करने पर मुझे शर्मिदा होना पड़े? अगर मैं अच्छा नहीं कर रहा तो वो मुझे टीम से निकाल सकते हैं। यह बेहद सरल है।”