क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला को भारत लाने में दिल्ली पुलिस को मिली सफलता

क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला को एयर इंडिया की फ्लाइट एआई-112 से गुरुवार को भारत लाया गया। स्पॉट फिक्सिंग के मामलों में दोषी चावला को लेकर विमान इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरा।

Written by: February 13, 2020 12:08 pm

नई दिल्ली। क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला को एयर इंडिया की फ्लाइट एआई-112 से गुरुवार को भारत लाया गया। स्पॉट फिक्सिंग के मामलों में दोषी चावला को लेकर विमान इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरा। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम बुधवार-गुरुवार की रात ग्लोबल क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला को लेकर लंदन से भारत के लिए रवाना हुई थी।Delhi Policeक्रिकेटर हैंसी क्रोनिए से जुड़े कथित मैच फिक्सिंग मामले में सट्टेबाज संजीव चावला को दिल्ली पुलिस भारत वापस लाने में सफल हो गई है। संजीव चावला को वापस लाने के लिए दिल्ली पुलिस की टीम लंदन में तमाम औपचारिकताएं पूरी कर चुकी थी। बताया गया कि चावला को भारत लाने के बाद सबसे पहले चिकित्सा जांच की जाएगी और फिर बाद में अदालत में पेश किया जाएगा। वहां से पुलिस उसे हिरासत में लेकर उससे मैच फिक्सिंग के 19 वर्ष पुराने मामले में पूछताछ करेगी।
Sanjeev Chawla Bookie Cricket

भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिक संजीव को कई कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद प्रत्यर्पण कर भारत लाया गया है। बताया गया दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के डीसीपी राम गोपाल नाइक की टीम जो इस मामले की जांच कर रही है वो गुरुवार सुबह करीब 10:30 बजे संजीव को लेकर दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पहुंची। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि संजीव सामान्य अपराधी नहीं है। एक विशेष संधि के तहत उसे लंदन से भारत प्रत्यर्पित किया जा रहा है।Sanjeev Chawla Bookie Cricket

वर्ष 2000 में 16 फरवरी और 20 मार्च को खेले गए भारत-दक्षिण अफ्रीका के मैच फिक्स करने के लिए दिल्ली पुलिस ने साउथ अफ्रीका टीम के कैप्टन रह चुके दिवंगत हैंसी क्रोनिए और पांच अन्य के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी। साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी हर्शल गिब्स और निकी बोए के फिक्सिंग से जुड़े होने के पर्याप्त सबूत न मिलने पर उनका नाम चार्जशीट से हटा दिया गया था। इस संबंध में 2013 में दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट दायर की थी।Sanjeev Chawla Bookie Cricket

इसमें हैंसी क्रोनिए, सट्टेबाज संजीव चावला, मनमोहन खट्टर, दिल्ली के राजेश कालरा और सुनील दारा सहित टी सीरीज के मालिक के भाई कृष्ण कुमार को आरोपित बनाया गया था। इसके बाद से पुलिस संजीव को भारत लाने का प्रयास कर रही थी। हालांकि मानवाधिकारों का हवाला देकर आरोपित ने यूरोपियन कोर्ट में प्रत्यर्पण के खिलाफ गत 23 जनवरी को अर्जी लगाई थी, जिसे कोर्ट ने नामंजूर कर दिया था।