IND vs SA: कोहली की इस हरकत पर भड़के गौतम गंभीर, भड़ास निकालते हुए बताया अपरिपक्व

IND vs SA: गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा, “कोहली बहुत अपरिपक्व हैं। किसी भारतीय कप्तान के लिए स्टंप्स में ऐसा कहना सबसे बुरा है। ऐसा करने से आप कभी भी युवाओं के आदर्श नहीं बनेंगे।”

Written by: January 14, 2022 3:45 pm

नई दिल्ली। भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने गुरुवार को न्यूलैंड्स में निर्णायक टेस्ट के तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर के डीआरएस की समीक्षा में बच जाने के बाद टेस्ट कप्तान विराट कोहली द्वारा स्टंप माइक के ऊपर नाराजगी व्यक्त करने पर आलोचना की है। एल्गर को डीआरएस की समीक्षा के बाद एलबीडब्ल्यू से राहत मिलने के बाद कोहली और कुछ अन्य भारतीय खिलाड़ियों ने स्टंप माइक पर दक्षिण अफ्रीका के ब्रॉडकास्टर और सुपरस्पोर्ट के खिलाफ भला बुरा कहा। अंपायर इरास्मस ने पहले एल्गर को आउट दिया था, लेकिन बॉल-ट्रैकिंग तकनीक से पता चला कि गेंद स्टंप्स से ऊपर जा रही थी और समीक्षा पर निर्णय को पलट दिया गया था। गंभीर ने कोहली की प्रतिक्रिया पर आलोचना करते हुए इसे अपरिपक्व करार दिया। पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि इस तरह की प्रतिक्रिया युवा क्रिकेटरों के लिए एक खराब उदाहरण पेश करती है।


गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा, “कोहली बहुत अपरिपक्व हैं। किसी भारतीय कप्तान के लिए स्टंप्स में ऐसा कहना सबसे बुरा है। ऐसा करने से आप कभी भी युवाओं के आदर्श नहीं बनेंगे।” उन्होंने आगे कहा, “कोहली ने जो किया वह वास्तव में बुरा है। स्टंप माइक के पास जाकर उस तरह से प्रतिक्रिया करना, वह वास्तव में अपरिपक्व है। आप एक भारतीय कप्तान से ऐसी उम्मीदें नहीं करते हैं, क्योंकि तकनीक आपके हाथ में नहीं है।”

gautam gambhir

गंभीर ने एल्गर को लेकर कहा कि सेंचुरियन में शुरुआती टेस्ट के दौरान भारत के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के आउट न होने पर उन्होंने कितनी शांति से प्रतिक्रिया दी। गंभीर ने कहा, “जब मयंक की लेग-साइड पर कैच-बैक की अपील थी, तब डीन एल्गर ने उस तरह से प्रतिक्रिया नहीं दी थी, जैसे कोहली ने दी है। उन्होंने कहा कि मुख्य कोच राहुल द्रविड़ इस तरह के व्यवहार को रोकने के लिए कोहली से बात करें।”

मुझे उम्मीद है कि राहुल द्रविड़ उनसे बात करेंगे, क्योंकि द्रविड़ जिस तरह के कप्तान थे, उन्होंने कभी इस तरह की प्रतिक्रिया नहीं दी होती। तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक साउथ अफ्रीका 101/2 है, श्रृंखला जीतने के लिए 111 रनों की आवश्यकता है। वहीं, भारत को सीरीज जीतने के लिए 8 विकेट लेने होंगे। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के विकेट लेने से पहले एल्गर ने 96 गेंदों में 30 रन बनाए। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज महान शॉन पोलक ने कहा, “भारत विकेट लेने के लिए बेताब था और उसके बाद उन्होंने ऐसी प्रतिक्रियाएं दी, जिसके बाद एल्गर भी नॉट आउट करार दिए।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost