Connect with us

खेल

CWG 2022: मीराबाई चानू ने रचा इतिहास, कॉमनवेल्थ में भारत की शेरनी ने देश के नाम किया गोल्ड मेडल

CWG 2022: मीराबाई ने पहला अटेमंट ही 84 किलोग्राम का लिया और इसमें ही ये सफल हो गई। इसके बाद उन्होंने 88 किलो वजन उठाकर अपने पर्सनल बेस्ट की बराबरी कर शानदरा प्रदर्शन किया।

Published

on

meeravai chanu

नई दिल्ली। भारतीय स्टार वेटलिफ्टर स्नैच मीराबाई चानू ने इतिहास रच दिया है। कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में उन्होंने इतिहास को दहराते हुए एक बार फिर से गोल्ड मेडल जीता है। इसके बाद देशभर में जश्न का माहौल दिख रहा है। मीराबाई चानू से पहले ही भारतीय खेल प्रेमियों को मीराबाई चानू से उम्मीदें थी कि वो देश के नाम गोल्ड मेडल करेंगी। पहले ही 49 वर्ग किलो वर्ग में चानू अपने बाद आने वाली एथलीट से वजन उठाने के मामले में 25 किलो बेहतर हैं। मीराबाई ने पहला अटेमंट ही 84 किलोग्राम का लिया और इसमें ही ये सफल हो गई। इसके बाद उन्होंने 88 किलो वजन उठाकर अपने पर्सनल बेस्ट की बराबरी कर शानदार प्रदर्शन किया। बता दें कि यह इस कैटेगरी में स्नेच का गेम्स रिकॉर्ड भी है। हांलाकि इसके बाद 90 किलोग्राम के तीसरे प्रयास के दौरान वजन उठाने में वह नाकामयाब हो गई। लेकिन उनके चेहरे पर पहले से ही एक अलग तरह की मुस्कान बनी हुई थी। इसके बाद उन्होंने तीसरे प्रयास में ही इतिहास रच कर गोल्ड मेडल हासिल किया।

मीराबाई ने रचा इतिहास 

पहले से ही मीराबाई चानू से उम्मीदें से लगाई जा रही थी कि वो कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत की झोली में गोल्ड मेडल डालेंगी और ठीक ऐसा ही हुआ। इस बार भारत की तरफ से इस खेल में 15 सदस्यीय वेटलिफ्टरों का दल इंग्लैंड के बर्मिंघम गया है। माना जा रहा है कि इस बार वेटलिफ्टिंग में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा होने वाला है। भारत की तरफ से मीराबाई चानू ने क्लीन एंड जर्क के अपने पहले ही प्रयास में 109 किलोग्राम वजन उठाया और सफल भी हुई। अब उनकी इस खास सफलता के लिए पूरे देशभर में जश्न का माहौल है। हर तरफ से भारत की इस शेरनी को बधाइंयों तांता लगा हुआ है। इसके साथ ही भारत ने बर्मिंघम कॉमनवेल्थ 2022 में पहला गोल्ड मेडल भी हासिल कर लिया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement