उमर अकमल को मनोचिकित्सक की जरूरत : नजम सेठी

सेठी ने जियो टीवी से कहा, “जैसे ही मैं पीसीबी में आया जो सबसे पहला मुद्दा मेरे सामने था वो था अकमल का। उन्हें वेस्टइंडीज दौरे पर मिरगी का दौरा पड़ा था। जब वह लौटकर पाकिस्तान आए तो मैंने उनसे ब्रेक ले जांच कराने को कहा लेकिन उन्होंने मना कर दिया और खेलने पर जोर दिया।”

Written by: May 1, 2020 4:03 pm

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के पूर्व चेयरमैन नजम सेठी ने बताया है कि देश के निलंबित खिलाड़ी उमर अकमल को अतीत में मिरगी की शिकायत थी और उन्होंने इसका इलाज कराने से भी मना कर दिया था। उन्होंने कहा है कि उमर को अपनी समस्याओं से बाहर आने के लिए मनोचिकित्सक की जरूरत है। उमर को फिक्सिंग प्रस्ताव की सूचना बोर्ड को न देने के कारण पीसीबी ने तीन साल के लिए प्रतिंबधित कर दिया है।

pcb
सेठी 2013 से 2018 तक बोर्ड के अध्यक्ष भी रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने पद संभाला था तो उनकी एक चिता अकमल को लेकर थी। उन्होंने कहा कि अकमल से बारबार डॉक्टर को दिखाने के बारे में कहा था लेकिन उन्होंने उनकी बात नहीं मानी।

Nazam Sethi
सेठी ने जियो टीवी से कहा, “जैसे ही मैं पीसीबी में आया जो सबसे पहला मुद्दा मेरे सामने था वो था अकमल का। उन्हें वेस्टइंडीज दौरे पर मिरगी का दौरा पड़ा था। जब वह लौटकर पाकिस्तान आए तो मैंने उनसे ब्रेक ले जांच कराने को कहा लेकिन उन्होंने मना कर दिया और खेलने पर जोर दिया।”

Umar AkmalUmar Akmal
पीसीबी के पूर्व चेयरमैन ने कहा कि उन्होंने अकमल को अपने समय में कई चेतावनियां दीं लेकिन उन्होंने बात नहीं मानी। सेठी ने कहा है कि अकमल के ऊपर तीन साल का निलंबन सही है। सेठी ने कहा, “हमने अकमल को इस संबंध में चेतावनी दे दी थी और उन्हें पहले बैन भी कर दिया था। इसलिए मुझे लगता है कि तीन साल का निलंबन सही है। वह हमेशा अपने लिए खेलते हैं, टीम के लिए नहीं।”