Ind vs Aus: रोहित शर्मा के फैंस के लिए अच्छी खबर, बल्लेबाज ने पास किया फिटनेस टेस्ट

इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के दौरान अपनी हैमस्ट्रिंग (Hamstring) के बाद ओपनर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) में चिकित्सकों द्वारा फिट घोषित किया गया है। वो 19 नवंबर को बेंगलुरु के एनसीए में पहुंचे थे और शुक्रवार को उनका फिटनेस टेस्ट हुआ। जिसमें वो फिट पाए गए।

Avatar Written by: December 11, 2020 1:17 pm

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के दौरान अपनी हैमस्ट्रिंग (Hamstring) के बाद ओपनर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) में चिकित्सकों द्वारा फिट घोषित किया गया है। वो 19 नवंबर को बेंगलुरु के एनसीए में पहुंचे थे और शुक्रवार को उनका फिटनेस टेस्ट हुआ। जिसमें एनसीए ने उन्होंने फिटनेस टेस्ट पास कर लिया। आज का दिन उनके लिए काफी अहम था क्योंकि भारतीय टीम इस समय ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर है, जहां दोनों देशों के बीच वनडे और टी20 सीरीज खेली जा चुकी है। इन दोनों ही सीरीजों में कई मौकों पर उप कप्तान रोहित शर्मा की कमी खली है। ऐसे में अब खिलाड़ी सीरीज में खेल सकते हैं।

rohit sharma

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने कहा कि बल्लेबाज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की कठोरता के लिए फिट है। सूत्र ने कहा, “उन्होंने फिटनेस टेस्ट पास कर लिया है और भविष्य में कार्रवाई का फैसला बीसीसीआई और चयन समिति द्वारा किया जाएगा।” बीसीसीआई ने रोहित को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के लिए टीम में शामिल करने के फैसले के बारे में सूचित किया था क्योंकि शुरुआत में हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण उन्हें दौरे से बाहर रखा गया था।

Rohit Sharma

बीसीसीआई मेडिकल टीम रोहित शर्मा की फिटनेस की निगरानी कर रही है और उसी पर अखिल भारतीय वरिष्ठ चयन समिति को सूचित किया है। शर्मा के परामर्श से, उन्हें पूर्ण फिटनेस हासिल करने के लिए ऑस्ट्रेलिया में वनडे और टी 20 आई के लिए आराम करने का निर्णय लिया गया है और उन्होंने बीसीसीआई ने 9 नवंबर को एक विज्ञप्ति में कहा, बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए भारत के टेस्ट टीम में शामिल किया गया है।

उधर, विराट कोहली पहला मैच खेलने के बाद भारत लौट आएंगे। ऐसे में विराट कोहली की जगह भरने और ओपनिंग स्लॉट को दमदार करने के लिए रोहित शर्मा का कम से कम आखिरी दो मैचों में टीम के साथ रहना जरूरी है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost