Connect with us

खेल

Mohammed Shami: भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को झटका, देने होंगे पत्नी को इतने लाख रुपए का मासिक भत्ता

Mohammed Shami: हसीन जहां, अपने शौहर मोहम्मद शमी पर कई गंभीर आरोप लगा चुकी है। इसके बाद से ही दोनों अलग-अलग रह रहे थे। कई मौकों पर हसीन जहां मोहम्मद शमी को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर निशाना भी साथ चुकी है।

Published

Mohammed Shami Hasin Jahan

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम (Bharatiya cricket team) के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को झटका लगा है। मोहम्मद शमी को कोलकाता की एक कोर्ट ने अपनी पत्नी हसीन जहां को 1,30,000 मासिक गुजारा भत्ता देने का आदेश दिया है। बता दें कि हसीन जहां, अपने शौहर मोहम्मद शमी पर कई गंभीर आरोप लगा चुकी है। इसके बाद से ही दोनों अलग-अलग रह रहे थे। कई मौकों पर हसीन जहां मोहम्मद शमी को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर निशाना भी साथ चुकी है।

Mohammed Shami Hasin Jahan.

आपको बता दें, हसीन जहां की तरफ से महीने के खर्च के लिए शमी से 10,00,000 मासिक गुजारा भत्ते की मांग की गई थी। इसे लेकर हसीन जहां ने अदालत में मुकदमा दायर किया था। हसीन जहां ने बताया था कि 70,000 उनका व्यक्तिगत गुजारा होगा, जबकि 30,000 उनकी बेटी के रखरखाव के लिए चाहिए जो उनके साथ रहती है।

Mohammed Shami Hasin Jahan...

हसीन जहां ने 10 लाख रुपए का मासिक गुजारा भत्ता तेज गेंदबाज के आयकर रिटर्न के मुताबिक मांगा था। हसीन जहां की वकील मृगांका मिस्त्री ने अदालत को मोहम्मद शमी के वित्त वर्ष 2020 21 के आयकर रिटर्न की जानकारी देते हुए वार्षिक आय 7 करोड़ रुपये से अधिक बताई थी। इसी आधार पर हसीन जहां के लिए 10 लाख मासिक गुजारा भत्ता मांगा था। हालांकि मोहम्मद शमी के वकील सेलिम रहमान ने कहा था कि खुद हसीन जहां एक पेशेवर फैशन मॉडल के तौर पर उभर रही है और उनकी स्थिर इनकम को देखते हुए  इतना ज्यादा गुजारा भत्ता मांगना सही नहीं है। ऐसे में दोनों पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने आदेश दिया कि हसीन जहां को डेढ़ लाख रुपए मासिक गुजारा भत्ता दिया जाएगा। इस डेढ़ लाख रुपए के गुजारा भत्ता में से 80, 000 उनकी बेटी के रखरखाव पर लगाया जाएगा, जबकि 50,000 हसीन जहां का व्यक्तिगत भत्ता होगा।

Mohammed Shami Hasin Jahan.....

कोर्ट के इस फैसले पर क्या बोली हसीन जहां

इधर कोर्ट के फैसले पर हसीन जहां का कहना है कि कोर्ट ने मासिक गुजारा भत्ता 1,30,000 तय किया है। इस पर हम उनका आभार जताते हैं लेकिन अगर गुजारा भत्ता अधिक होता तो उन्हें थोड़ी राहत मिलती। इधर इस मामले पर मोहम्मद शमी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement