Connect with us

दुनिया

Pakistan: बिजली और पानी के बाद पाकिस्तान में गहराया ये नया संकट, लोग हो रहे परेशान

Pakistan: कहा ये भी जा रहा है कि आने वाले समय में ये संकट और गहरा सकता है। Daily Dawn की एक रिपोर्ट की मानें तो सरकार की तरफ से पाकिस्तान टेलीकम्युनिकेशन कंपनी लिमिटेड (PTCL) और पाकिस्तान टेलीकॉम अथॉरिटी को केबल कट की घटना के बाद एक रिपोर्ट जमा कराने के लिए भी कहा गया है।

Published

on

नई दिल्ली। बिजली-पानी से पहले ही परेशान आतंक के पनाहगाह पाकिस्तान में एक और संकट सामने आ गया है। ये संकट है इंटरनेट का। दरअसल, पाकिस्तान में इंटरनेट सर्विस काफी डाउन हो रही है। बीते काफी समय से लोगों को इंटरनेट यूज करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पाकिस्तान में इंटरनेट की सर्विस डाउन होने के पीछे केबल में आई खराबी को वजह बताया जा रहा है। एक रिपोर्ट में इसे लेकर दावा करते हुए कहा है कहा गया है कि फिलहाल लोगों को इस समस्या से कोई निजात नहीं मिल पाएगा। यानी पाक में ये संकट और गहराता नजर आएगा। रिपोर्ट में ये कहा गया है कि लगातार हो रही बारिश की वजह से कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है जिससे लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त तो हुआ ही है साथ ही इसका असर ऑप्टिकल फाइबर पर भी पड़ रहा है। यही कारण है कि पाकिस्तान के कई जगहों पर इंटरनेट की सर्विस डाउन हुई है।

कहा ये भी जा रहा है कि आने वाले समय में ये संकट और गहरा सकता है। Daily Dawn की एक रिपोर्ट की मानें तो सरकार की तरफ से पाकिस्तान टेलीकम्युनिकेशन कंपनी लिमिटेड (PTCL) और पाकिस्तान टेलीकॉम अथॉरिटी को केबल कट की घटना के बाद एक रिपोर्ट जमा कराने के लिए भी कहा गया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इंटरनेट में आ रही दिक्कत का मुख्य कारण बाढ़ है। पानी हटाने के लिए हेवी मशीन का इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे कि फाइबर-ऑप्टिक्स केबल्स डैमेज हो गए। पाकिस्तान के आईटी और टेलीकॉम मंत्री ने इसे लेकर टेक्निकल रिपोर्ट तलब की है। उन्होंने ये भी बात कही है कि ऐसी घटनाएं भविष्य में बढ़ सकती हैं।

की जा सकती है इमरजेंसी घोषणा

रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि पाकिस्तान टेलीकम्युनिकेशन कंपनी लिमिटेड ने इमरजेंसी की घोषणा करने की बात कही है ताकि इस तरह की घटना घटित होने पर रिपेयरिंग का काम पूरा हो सके। मंत्री का कहना है कि पाकिस्तान टेलीकॉम अथॉरिटी द्वारा सर्विस की क्वालिटी को लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। अब देखना होगा कि पाकिस्तान पर घिरा ये संकट कब दूर होता है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement