US ने लगाया चीनी कर्मचारियों पर बैन, चीन ने लगा दी अमेरिकी लोगों के वीजा पर पाबंदी

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीन को चीन-ब्रिटिश संयुक्त घोषणा में अपनी प्रतिबद्धताओं और दायित्वों का सम्मान करने का आह्वान किया था।

Avatar Written by: June 29, 2020 5:14 pm

नई दिल्ली। भारत-चीन के मामले के बीच हांगकांग के जरिए अमेरिका भी चीन पर बरस पड़ा है। हांगकांग के मसले पर अमेरिका ने शुक्रवार को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया था। इस प्रतिबंध के बाद अब चीन की तरफ से भी कार्रवाई की गई है। इसके तहत चीन ने भी अमेरिका से आने वाले लोगों के वीजा पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है।

XI Jinping China

आपको बता दें कि अमेरिका द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के बाद चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि अमेरिका की तरफ से हांगकांग से संबंधित मुद्दों पर खराब बर्ताव के बाद यह फैसला लिया गया है। बता दें कि चीन ने भी हांगकांग संबंधित मुद्दों को लेकर चीनी अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने के अमेरिका के फैसले का कड़ा विरोध जताया था। इसके अलावा चीन ने कहा था कि राष्ट्रीय सुरक्षा को बनाए रखने के लिए वह मजबूत कदम उठाता रहेगा।

Trump and china jinping

गौरतलब है कि कोरोना वायरस का पूरी दुनिया में संक्रमण फैलने के बाद से अमेरिका और चीन के रिश्ते खराब हुए हैं। अमेरिका का आरोप है कि चीन ने कोरोना को लेकर दुनिया से सही जानकारी साझा नहीं की। वहीं हांगकांग के लिए चीन के सुरक्षा कानून ने ट्रंप को विशेष आर्थिक पैकेज को समाप्त करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए प्रेरित किया जिसने हांगकांग को एक वैश्विक वित्तीय केंद्र रहने की अनुमति दी है।

Mike pompeo

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीन को चीन-ब्रिटिश संयुक्त घोषणा में अपनी प्रतिबद्धताओं और दायित्वों का सम्मान करने का आह्वान किया था। अमेरिका ने कहा था कि हांगकांग को अपनी स्वायत्तता का इस्तेमाल करने का पूरा अधिकार है। इसमें मानव अधिकार और मौलिक स्वतंत्रता, जिसमें अभिव्यक्ति और शांति की स्वतंत्रता भी शामिल है। इन अधिकारों का हांगकांग प्रशासन की तरफ से संरक्षित किया जाना चाहिए।