Connect with us

दुनिया

S Jaishankar: रूस दौरे पर विदेश मंत्री जयशंकर, रूस-यूक्रेन युद्ध पर कही ये बात, जानिए उनके संबोधन की मुख्य बातें

S Jaishankar: अर्थव्यवस्था से लेकर निवेश तक मोर्चे पर दोनों देशों के बीच परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। ऐसे में इन परिवर्तनों के बीच हम प्रासंगिक चर्चा कराने की मांग करते हैं। इस बीच एस जयशंकर प्रसाद ने देश को संबधित किया है। आइए, आगे आपको बताते हैं कि उन्होंने क्या कुछ कहा…!

Published

Jai Shankar Parsad

नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस जयंशकर प्रसाद रूस दौरे गए हैं। वे बीती शाम राजधानी मॉस्को पहुंचे थे। इस बीच वे अपने समकक्ष सर्गेई लावरेव से भी मुखातिब हुए। विदेश मंत्री ने इस मुलाकात पर हर्ष प्रकट किया है। जयशंकर ने कहा कि इस साल यह हमारी पांचवी मुलाकात है। बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समरकंद में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से भी मुलाकात की थी। रूसी विदेश मंत्री लावरोव ने कहा कि वर्मतान में वैश्विक परिदृश्य में कई मोर्चे पर विभिन्न परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। अर्थव्यवस्था से लेकर निवेश तक मोर्चे पर दोनों देशों के बीच परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। ऐसे में इन परिवर्तनों के बीच हम प्रासंगिक चर्चा कराने की मांग करते हैं। इस बीच एस जयशंकर प्रसाद ने देश को संबधित किया है। आइए, आगे आपको बताते हैं कि उन्होंने क्या कुछ कहा…!

जयशंकर ने अपने संबोधन में रूस-यूक्रेन युद्ध पर भी अपनी राय व्यक्त की। विदेश मंत्री ने कहा कि, ‘रूस के साथ हमारे महत्वपूर्ण और समय-परीक्षणित संबंध हैं। हम इस संबंध का विस्तार करने और इसे और अधिक टिकाऊ बनाने के तरीके खोजने की कोशिश कर रहे हैं। हमने उन क्षेत्रों पर चर्चा की जहां दोनों देशों के बीच स्वाभाविक हित हैं।

उन्होंने आगे कहा कि,  हमने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लक्ष्यों की सर्वोत्तम सेवा के बारे में बात की। अफगानिस्तान के अनेक क्षेत्रीय मुद्दों पर भी चर्चा हुई। हमने चर्चा की कि अफगानिस्तान के लोगों के लिए अपना समर्थन कैसे जारी रखें।

विदेश मंत्री ने आगे कहा कि, ‘रूस के साथ हमारे महत्वपूर्ण और समय-परीक्षणित संबंध हैं। हम इस संबंध का विस्तार करने और इसे और अधिक टिकाऊ बनाने के तरीके खोजने की कोशिश कर रहे हैं। हमने उन क्षेत्रों पर चर्चा की जहां दोनों देशों के बीच स्वाभाविक हित हैं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement