भारत को मिली बड़ी कामयाबी, आखिरकार LAC पर चीन को माननी पड़ी हार

बता दें, पूर्वी लद्दाख के विभिन्न स्थानों पर गत सात हफ्ते से भारत और चीन के सेनाओं के बीच तनाव है और यह तनाव और बढ़ गया जब 15 जून को गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए।

Written by: July 6, 2020 11:55 am

नई दिल्ली। सीमा विवाद को लेकर मुश्किलों में घिरा चीन अब भारत सरकार की सख्त के आगे बेबास दिखाई दे रहा है। इसी बीच भारत और चीन के बीच मई के महीने से जारी विवाद में अब बड़ी खबर सामने आ रही है। दरअसल लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर गलवान घाटी में हिंसा वाले स्थल के पास से चीनी सेना करीब 1-2 किलोमीटर पीछे हट गई है।

Indian China LAC

न्यूज एजेंसी एनएनआई ने भारतीय सेना के सूत्रों के हवाले से बताया कि चीनी सेना सीमा पर अब पीछे लौट रही है। उन्होंने अपने टेंट्स, वाहनों और सैनिकों को भी पीछे खींच लिया है। बताया जा रहा है कि ऐसा कॉर्प कमांडर स्तर की बैठक के बाद फैसला लिया गया है।

बता दें कि पिछले शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह पहुंच गए थे। पीएम मोदी नीमू पोस्ट पर पहुंचे थे। इस दौरान पीएम मोदी ने जहां भारतीय जवानों का हौसला बढ़ाया, तो वहीं चीन को दो टूक संदेश भी दिया।

PM Narendra Modi

15 जून को जिस जगह पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने आई थीं, अब वहां से चीनी सेना करीब 1-2 किमी पीछे हट गई है। सेनाओं के बीच लगातार सैनिकों को पीछे हटाने को लेकर मंथन चल रहा था, ऐसे में ये इस प्रक्रिया का पहला पड़ाव माना जा रहा है।

India-China LAC

बता दें, पूर्वी लद्दाख के विभिन्न स्थानों पर गत सात हफ्ते से भारत और चीन के सेनाओं के बीच तनाव है और यह तनाव और बढ़ गया जब 15 जून को गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए। चीनी पक्ष को भी नुकसान हुआ लेकिन उसने इसकी जानकारी सार्वजनिक नहीं की।