Connect with us

दुनिया

LAC पर बने तनाव के बीच अमेरिका ने दी चीन को चेतावनी, देखिए क्या कहा

29 अगस्त से अब तक चीन(China) ने तीन बार एलएसी(LAC) पर घुसपैठ की कोशिश की है। पहली बार चीन के जवानों ने 29-30 अगस्त की रात पैंन्गॉग इलाके में हिमाकत की।

Published

on

नई दिल्ली। भारत चीन सीमा को लेकर चल रहे विवाद के बीच अमेरिका का बड़ा बयान सामने आया है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल(LAC) पर तनाव को देखते हुए अमेरिका ने चीन को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि, चीन अपने पड़ोसी देशों पर लगातार उलझने की कोशिश कर रहा है, ऐसे में उसके रोकने का एक मात्र रास्ता, बीजिंग के खिलाफ खड़े होना है।

PM Narendra Modi

बता दें कि पिछले चार दिन के अंदर चीन ने तीन बार घुसपैठ की कोशिश की, लेकिन भारत के तेवर देख चीनी सैनिकों को दबे पांव लौटना पड़ा। इस वजह से एलएसी पर हालात तनावपूर्ण है। चीन की इस चालबाजी पर अमेरिका ने सख्त रुख अपनाया है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम इसकी गहन निगरानी कर रहे हैं और शांतिपूर्ण समाधान की उम्मीद कर रहे हैं। जैसा कि कई अवसरों पर अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा था कि बीजिंग अपने पड़ोसियों और बाकी देशों से लगातार बहुत ही आक्रामक तरीके से उलझने की कोशिश कर रहा है।

jinping Sad

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि ताइवान स्ट्रेट से शिनजियांग, साउथ चाइना सी से हिमालय तक, साइबर स्पेस से लेकर इंटल ऑर्गनाइजेशन तक, हम चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के साथ काम कर रहे हैं, जो अपने ही लोगों को दबाना चाहती है और अपने पड़ोसियों को धमकाना चाहती है। केवल इन उकसावों को रोकने का एक तरीका है, बीजिंग के खिलाफ खड़ा होना।

गौरतलब है कि 29 अगस्त से अब तक चीन ने तीन बार एलएसी पर घुसपैठ की कोशिश की है। पहली बार चीन के जवानों ने 29-30 अगस्त की रात पैंन्गॉग इलाके में हिमाकत की। उन्हें करारा जवाब मिला। दूसरी बार 31 अगस्त की रात भी चीनी सेना ने हेलमेट टॉप पर गुस्ताखी दिखाई, जिसका भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया।

Donald Trump And Jinping

इसके बाद 1 सितंबर को चीनी सेना के जवान अपने चेपुजी कैंप से आगे बढ़ना चाहते थे। तभी भारतीय खेमे में इसकी भनक लग गई। जैसे ही चीन की नजर हिन्दुस्तान की तैयारियों पर पड़ी, उसे बैकफुट पर जाना पड़ा। सेना की मुस्तैदी की वजह से चीनी सैनिक अपने कैंप में लौट गए।

Advertisement
Advertisement
Advertisement