Modi’s Gift: कोरोना से लड़ने के लिए बांग्लादेश को PM मोदी ने दी मदद, इस टेक्नोलॉजी को हासिल कर गदगद हैं हसीना

PM Narendra Modi: कोरोना के दौरान ही पीएम मोदी ने तय किया था कि बांग्लादेश समेत हर पड़ोसी देश को मदद दी जाएगी। उन्होंने बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका, मालदीव, भूटान और नेपाल के पीएम से बातचीत भी की थी। बांग्लादेश को अगस्त के पहले हफ्ते में पश्चिम बंगाल के पेट्रोपोल सीमा के जरिए 30 एंबुलेंस भी भेजी गई थीं।

Written by: September 3, 2021 11:29 am

ढाका। बांग्लादेश में कोरोना ने बीते दिनों हाहाकार मचा दिया था। वहां अगस्त में हर रोज 15 हजार तक नए केस मिल रहे थे। फिलहाल हर रोज 3000 केस आ रहे हैं। बांग्लादेश में भी ऑक्सीजन की कमी है। ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी ने पड़ोसी देश की ओर मदद का हाथ बढ़ाया है। उन्होंने भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस सावित्री के जरिए बांग्लादेश को दो मोबाइल ऑक्सीजन प्लांट गिफ्ट के तौर पर भेजे हैं। इस तकनीकी को पाकर बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने खुशी जताई है और मोदी को धन्यवाद दिया है। बांग्लादेश में भारतीय उच्चायोग की तरफ से बयान जारी कर कहा गया है कि नौसेना का पोत चटगांव पुहंच गया है। वहां से दोनों ऑक्सीजन प्लांट को बांग्लादेश नौसेना के हॉस्पिटल और ढाका मेडिकल कॉलेज के लिए रवाना कर दिया गया है। इन दोनों प्लांट से हर मिनट 960 लीटर ऑक्सीजन बनाई जा सकता है। दोनों ऑक्सीजन प्लांट लेकर नौसेना का जहाज विशाखापटनम से रवाना हुआ था। इस गिफ्ट से भारत और बांग्लादेश की दोस्ती और मजबूत होगी।

Sheikh Hasina And Narendra Modi

कोरोना के दौरान ही पीएम मोदी ने तय किया था कि बांग्लादेश समेत हर पड़ोसी देश को मदद दी जाएगी। उन्होंने बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका, मालदीव, भूटान और नेपाल के पीएम से बातचीत भी की थी। बांग्लादेश को अगस्त के पहले हफ्ते में पश्चिम बंगाल के पेट्रोपोल सीमा के जरिए 30 एंबुलेंस भी भेजी गई थीं। भारत ने तय किया है कि पड़ोसी देश को 109 एंबुलेंस दी जाएंगी। बांग्लादेश की यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने राहत और चिकित्सा सामग्री देने का एलान किया था। बांग्लादेश को पहले भी भारत ने 200 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई की थी।

pm modi 2

जून से अगस्त के बीच बांग्लादेश ने भारत से 5325 टन ऑक्सीजन लिया था। सागर योजना के तहत भारत सभी पड़ोसी देशों को नौसेना के जरिए कोरोना काल में मदद कर रहा है। श्रीलंका को भी भारतीय नौसेना के जहाज से मेडिकल सहायत भेजी गई थी। जबकि, वियतनाम, थाईलैंड और इंडोनेशिया को भी भारत ने कोरोना काल में चिकित्सा उपकरण भेजकर मदद की।

Support Newsroompost
Support Newsroompost