Connect with us

दुनिया

Pakistan Blackout: अचानक अंधेरे में डूब गए पाकिस्तान के कई शहर, बिजली गुल होने से आम लोगों की बढ़ी मुसीबत

पाकिस्तान में इससे पहले भी अचानक बिजली सप्लाई फेल होने की घटनाएं होती रही हैं। पिछले साल और 2021 में इसी तरह अचानक राजधानी इस्लामाबाद और कई शहरों की बिजली गुल होने की घटनाएं हुई थीं। माना जाता है कि ग्रिड पर ज्यादा दबाव होने की वजह से पाकिस्तान में आए दिन बिजली सप्लाई बाधित होने की घटनाएं होती हैं।

Published

power blackout main

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में रहने वालों के दिन आजकल अच्छे नहीं चल रहे हैं। एक तरफ महंगाई की मार है। आटा मिल नहीं रहा है। बिजली का बिल भी बढ़कर आ रहा है। वहीं, सोमवार को अचानक पाकिस्तान के कई शहरों में बिजली कटने से हाहाकार मच गया। भयंकर ठंड के बीच बिजली कटने से आम लोगों के लिए दिक्कतें बढ़ गई हैं। बताया जा रहा है कि ग्रिड फेल होने की वजह से बिजली कटौती का सामना लोगों को करना पड़ा है। ठंड में लोग हीटर वगैरा जलाकर किसी तरह खुद और परिवार को बचाने की कोशिश करते हैं। ऐसे में ग्रिड फेल होने से बिजली कटौती ने उनके लिए मुसीबतों का पिटारा और खोल दिया। कराची समेत कई शहरों में खबर लिखे जाने तक बिजली गुल थी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Geo News English (@geonewsdottv)

पाकिस्तान में इससे पहले भी अचानक बिजली सप्लाई फेल होने की घटनाएं होती रही हैं। पिछले साल और 2021 में इसी तरह अचानक राजधानी इस्लामाबाद और कई शहरों की बिजली गुल होने की घटनाएं हुई थीं। माना जाता है कि ग्रिड पर ज्यादा दबाव होने की वजह से पाकिस्तान में आए दिन बिजली सप्लाई बाधित होने की घटनाएं होती हैं। वहां की सरकार इस हालात को सुधारने के लिए कुछ भी करने में नाकाम है। इसकी मूल वजह सरकारी खजाने में धन की भारी कमी है।

power blackout 1

पाकिस्तान में हालात काफी गंभीर हैं। वहां वित्तीय संकट पैदा हो गया है। पाकिस्तान के पास करीब 2 हफ्ते का विदेशी मुद्रा भंडार बचा है। पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ पिछले दिनों कर्ज मांगने सऊदी अरब और यूएई गए थे। वहां से आश्वासन मिला है, लेकिन पाकिस्तान को अब तक विदेशी मुद्रा नहीं मिली है। वहीं, अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) ने भी पाकिस्तान को नया कर्ज देने से फिलहाल इनकार कर दिया है। उसने कर्ज देने के लिए कठिन शर्तें रखी हैं। पाकिस्तान के पुराने दोस्त चीन ने भी कर्ज देने से फिलहाल मना कर दिया है। ऐसे में पाकिस्तान की जनता को काफी खराब हालात का सामना करना पड़ रहा है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement