Connect with us

दुनिया

Nuclear Attack Threat: ‘…तो अमेरिका और उसके सहयोगियों पर कर दूंगा परमाणु हमला!’, उत्तर कोरिया के तानाशाह किम की सीधी धमकी

पहली बार अपनी पत्नी और बेटी के साथ परमाणु परिक्षण देखने वाले किम के हवाले से उत्तर कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए ने ये खबर दी है। केसीएनए के मुताबिक किम जोंग ने कहा कि परमाणु हथियारों का जवाब परमाणु हथियार से दिया जाएगा। बता दें कि पिछले कुछ समय से उत्तर कोरिया लगातार मिसाइल परीक्षण कर रहा है।

Published

on

kim jong un and joe biden

प्योंगयांग। दुनिया बड़े खतरे के मुहाने पर आती दिख रही है। एक तरफ यूक्रेन और रूस के बीच जंग जारी है। ताइवान के मसले पर चीन और अमेरिका के बीच तनातनी भी चल रही है। वहीं, उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने अब अमेरिका और उसके सहयोगी देशों दक्षिण कोरिया और जापान पर परमाणु हमला करने की धमकी दी है। उत्तर कोरिया के ताजा मिसाइल परीक्षण का निरीक्षण करने के बाद किम जोंग ने ये धमकी दी। किम ने कहा कि उत्तर कोरिया को अगर किसी भी तरह का खतरा हुआ, तो वो परमाणु हथियारों से दुश्मन को जोरदार जवाब देगा।

kim jong un with daughter

परीक्षण से पहले ह्वासोंग-17 मिसाइल के पास बेटी के साथ किम जोंग उन

पहली बार अपनी पत्नी और बेटी के साथ परमाणु परिक्षण देखने वाले किम के हवाले से उत्तर कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए ने ये खबर दी है। केसीएनए के मुताबिक किम जोंग ने कहा कि परमाणु हथियारों का जवाब परमाणु हथियार से दिया जाएगा। पूरी तरह अगर सैन्य टकराव उत्तर कोरिया से कोई करता है, तो उसका जवाब भी उसी तरह मिलेगा। उत्तर कोरिया ने जिस ताजा ह्वासोंग-17 मिसाइल का परीक्षण किया है, उसे अमेरिका और पश्चिमी देश ‘शैतान’ कहते हैं। करीब 15000 किलोमीटर तक ये मिसाइल मार कर सकती है। इसमें एक साथ कई परमाणु बम लगाए जा सकते हैं। उत्तर कोरिया ने ये मिसाइल पूर्वी एशिया के समुद्र की तरफ दागी थी।

kim jong un with nuclear bomb

उत्तर कोरिया के परमाणु बम के साथ किम जोंग उन (फाइल फोटो)

बता दें कि उत्तर कोरिया अब तक अमेरिका और अन्य देशों को धता बताकर 6 बार परमाणु परीक्षण कर चुका है। इसके अलावा किम जोंग उन के निर्देश पर लगातार उत्तर कोरिया की सेना और वैज्ञानिक तरह-तरह के मिसाइलों का परीक्षण करते रहते हैं। बीते दो हफ्ते के दौरान उत्तर कोरिया की तरफ से लगातार मिसाइलों का परीक्षण होता रहा है। इनमें से कई मिसाइलें जापान की आकाशीय सीमा से होकर गुजरी थीं। जिसकी वजह से जापान की सेना को अलर्ट किया गया था।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement