Corona Vaccine: रूस ने Sputnik Light कोविड वैक्सीन की सिंगल-डोज को दी मंजूरी, बताया 80 फीसदी तक है असरदार

Corona Vaccine: आरडीआईएफ ने अपनी ओर से जारी बयान में कहा कि स्पूतनिक लाइट कोरोनावायरस के प्रभाव से बचाव में 79.4 फीसदी तक प्रभावी है। जबकि स्पूतनिक वी को लेकर दावा किया गया था कि इसकी दो डोज 91.6 फीसदी तक कोरोना के खिलाफ प्रभावी है।

Avatar Written by: May 6, 2021 7:37 pm
SPUTINK LIGHT

नई दिल्ली। कोरोनावायरस के प्रसार के साथ सबसे पहले रूस ने Sputnik-V वैक्सीन को अपने देश में मंजूरी प्रदान की। हालांकि इसको लेकर कई देशों ने सवाल उठाया कि बिना ट्रायल पूरा किए ही इस वैक्सीन को मंजूरी प्रदान कर दी गई। इसके बाद इस वैक्सीन को कई देशों ने अपने यहां भी आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी। हाल ही में भारत में भी Sputnik-v के आपात इस्तेमाल को मंजूरी प्रदान की गई है। लेकिन अब रूस ने इस दो डोज वैक्सीन की जगह पर सिंगल डोज Sputnik Light कोविड वैक्सीन को मंजूरी प्रदान की है। रूस का दावा है कि इस वैक्सीन की सिंगल डोज लोगों को 80 फीसदी तक सुरक्षा प्रदान कर रही है।

SPUTINK-V

इस मंजूरी पर मुहर लगाने की बात के बारे में बताते हुए वैक्सीन निर्माताओं ने कहा कि रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) ने वैक्सीन को बनाने के लिए वित्तीय तौर पर मदद की थी।


आरडीआईएफ ने अपनी ओर से जारी बयान में कहा कि स्पूतनिक लाइट कोरोनावायरस के प्रभाव से बचाव में 79.4 फीसदी तक प्रभावी है। जबकि स्पूतनिक वी को लेकर दावा किया गया था कि इसकी दो डोज 91.6 फीसदी तक कोरोना के खिलाफ प्रभावी है।


स्पूतनिक वी के डबल डोज टीके को पहले ही 64 देशों ने अपने यहां आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। जिसके कारण अब 3.2 बिलियन लोगों को इन देशों में टीके का फायदा मिल पाएगा।


वहीं अब स्पूतनिक लाइट के बारे में बताया जा रहा है कि यह कोरोना के हर वैरिएंट के खिलाफ काम कर सकता है और साथ ही दावा किया जा रहा है कि इसके प्रभाव आने वाले म्यूटेंट के खिलाफ भी लोगों को सुरक्षा देने में कामयाब रहेंगे। रूस सरकार की तरफ से कहा गया है कि अब इस वैक्सीन के इस्तेमाल से कोरोना से आजादी तो मिलेगी ही। यह आसानी से एक-जगह से दूसरे जगह तक ट्रांसपोर्ट भी किया जा सकता है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost