यूनिसेफ की रिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा, लेड एक्सपोजर के कारण दुनिया के 80 करोड़ बच्चों के खून में घुल रहा

यूनिसेफ की एक रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा किया गया है। सीसा विषाक्तिकरण (लेड पॉइजनिंग) रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के लगभग तीन चौथाई बच्चे सीसा (लेड) धातु के जहर के साथ जीने को मजबूर हैं।

Written by: August 1, 2020 4:15 pm

नई दिल्ली। यूनिसेफ की एक रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा किया गया है। सीसा विषाक्तिकरण (लेड पॉइजनिंग) रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के लगभग तीन चौथाई बच्चे सीसा (लेड) धातु के जहर के साथ जीने को मजबूर हैं। इतनी बड़ी संख्या में बच्चों के सीसा धातु से प्रभावित होने की वजह एसिड बैटरियों के निस्तारण को लेकर बरती जाने वाली लापरवाही है।

यूनिसेफ की कार्यकारी निदेशक हेनरीएटा फोर ने कहा, कुछ शुरूआती लक्षणों के साथ सीसा बच्चों के स्वास्थ्य और विकास पर संभवत: घातक परिणाम के साथ कहर बरपाता है। प्योर अर्थ के अध्यक्ष रिचर्ड फुलर ने कहा, आशान्वित होने के लिए अच्छी खबर है। अच्छी खबर यह है कि श्रमिकों, उनके बच्चों और उनके आस-पास के इलाकों में सीसा का सुरक्षित रूप से पुनर्नवीनीकरण किया जा सकता है। लेड-दूषित साइटों को फिर से बनाया जा सकता है और पुनस्र्थापित किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि लोगों को उनके बच्चों की सुरक्षा के लिए और इससे होने वाले खतरों के बारे में शिक्षित किया जा सकता है, जिससे स्वास्थ्य में सुधार, उत्पादकता में वृद्धि, उच्च आईक्यू के साथ लाखों बच्चों का उज्जवल भविष्य सुनिश्चित किया जा सकता है। बचपन में लेड एक्सपोजर से अनुमान है कि कम-और मध्यम-आय वाले देशों में बच्चे के उनके जीवनकाल में खोई हुई आर्थिक क्षमता के कारण लगभग एक खरब डॉलर का नुकसान होता है। यह जानते हुए कि इसका कितना व्यापक प्रभाव है और इससे होने वाले विनाश को समझकर सभी के लिए बच्चों की सुरक्षा के लिए तत्काल कार्रवाई को प्रेरित करना चाहिए।

unicef child

सीसा एक शक्तिशाली न्यूरोटॉक्सिन है, जो बच्चों के दिमाग को पहुंचाता है अपूरणीय क्षति

रिपोर्ट में कहा गया है कि सीसा एक शक्तिशाली न्यूरोटॉक्सिन है, जो बच्चों के दिमाग को अपूरणीय क्षति पहुंचाता है। शोध में यह भी पाया गया कि बांग्लादेश में मसालों में सीसे की उच्च मात्रा पाई गई है। लीड क्रोमेट, जो कि गुणवत्ता के संकेत के रूप में हल्दी के रंग और वजन को बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाता है, बच्चों और वयस्कों में समान रूप से उन्नत रक्त स्तर में योगदान देता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सीसा-एसिड बैटरी की अनौपचारिक और घटिया रीसाइक्लिंग, कम और मध्यम आय वाले देशों में रहने वाले बच्चों में विषाक्तता के मामले में एक प्रमुख योगदानकर्ता है, जिसने 2000 के बाद से वाहनों की संख्या में तीन गुना वृद्धि का अनुभव किया है। अक्सर श्रमिकों और आम नागरिकों को पता नहीं होता है कि सीसा एक शक्तिशाली न्यूरोटॉक्सिन है।

unicef 1

जिन माता-पिता के व्यवसाय में सीसे के साथ काम करना शामिल होता है, वे अक्सर अपने कपड़ों, बालों, हाथों और जूतों पर दूषित कणों को घर ले आते हैं और इस प्रकार अनजाने में उनके बच्चे ऐसे विषाक्त तत्व की चपेट में आ जाते हैं।