Video: तालिबान राज में हिंदुओं ने यूं मनाई नवरात्रि, मंदिर में गूंजी ‘हरे रामा, हरे कृष्णा’ की धुन

Afghanistan: अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा किए जाने के बाद से वाले लोगों मे डर का माहौल बना हुआ है। नेता बने तालिबान आतंकियों ने देशवासियों के साथ न सिर्फ बूरा व्यवहार किया है, बल्कि लोगों के लिए कई तरह के कानून भी बना दिए थे, वहीं महिलों पर भी कई तरह की पाबंदियां लगा दी गई थी

Written by: October 13, 2021 12:43 pm

नई दिल्ली। अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा किए जाने के बाद से वाले लोगों मे डर का माहौल बना हुआ है। नेता बने तालिबान आतंकियों ने देशवासियों के साथ न सिर्फ बूरा व्यवहार किया है, बल्कि लोगों के लिए कई तरह के कानून भी बना दिए थे, वहीं महिलों पर भी कई तरह की पाबंदियां लगा दी गई थी। लेकिन अब अफगानिस्तान का एक वीडियो सामने आया है जिसे देखकर कहा जा सकता है कि तालिबान द्वारा कब्जे के बाद जो डर का माहौल यहां बना हुआ था, उसमे धीरे-धीरे सुधार होने लगा है। कहा जा रहा है कि यह वीडियो राजधानी काबुल का है। जहां हिंदू समुदाय के लोगों ने नवरात्रि के अवसर पर कीर्तन और जगराता किया है। हिंदुओं ने काबुल में स्थित असमाई मंदिर में कीर्तन और जागरण किया है। जहां के कुछ वीडियोज भी सामने आए हैं।

taliban

इस वीडियो को लेकर सामने आई खबरों की मानें तो काबुल स्थित असमाई मंदिर की मैनेजमेंट कमेटी के अध्यक्ष राम शरण सिंह ने कहा कि उन्होंने कीर्तन और जागरण के साथ-साथ भंडारे का भी आयोजन किया है। जिसके तहत जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाया गया। इस कार्यक्रम में 150 लोग जुटे थे, जिसमें अफगान में रहने वाले हिंदुओं के साथ सिख लोग भी शामिल थे।

इन हिंदू और सिख लोगों ने भारत सरकार से इनको जल्द अफगानिस्तान से निकालने की अपील भी की है। इन लोगों का कहना है कि फिलहाल अफगान के आर्थिक हालात बिल्कुल अच्छी नहीं हैं और उन्हें कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है। यह मंदिर काबुल में ही स्थित ‘करते परवान’ गुरुद्वारे से 4-5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। साथ ही बताया कि करते परवान गुरुद्वारे में पिछले हफ्ते ही संदिग्ध तालिबान लड़ाकों ने तोड़फोड़ की घटना को अंजाम दिया था।

Support Newsroompost
Support Newsroompost