Connect with us

दुनिया

Who is RO Khanna: कौन हैं रो खन्ना, जिसने चीन की निकाली हेकड़ी, रूस को कर दिया खुश

Who is RO Khanna: अमेरिका को भारत के काफी हद तक बड़ी उम्मीदें भी है। जिसके कारण अब अमेरिका, भारत की हर शर्त मानने को तैयार है। इसकी ताजा बानगी उस वक्त देखने को मिली है, जब अमेरिकी प्रतिनिधि सभा (यूएस हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव) ने इंडिया के पक्ष में एक बड़ा निर्णय लिया है।

Published

on

नई दिल्ली। चीन की नापाक करतूत पर लगाम लगाने के अमेरिका जैसा ताकतवर देश कुछ भी करने के लिए तैयार है। अमेरिका को यह पता है हिंदुस्तान की मदद के बिना यह उसके लिए ऐसा करना नामुमकिन है। क्योंकि ड्रैगन ने अपनी विस्तारवादी रणनीति के आगे दुनिया के छोटे मुल्कों परेशानी में डालकर रखा है और उन देशों पर अपना रौब देखने की कोशिश की है। लेकिन भारत ही एक ऐसा देश है जिसने चीन को चाहे वो कूटनीति हो या सैन्य नीति हर मसले पर मुहंतोड़ जबाव दिया है। मोदी सरकार के सत्ता में काबिज होने के बाद से भारत का डंका विश्वभर में देखने को मिल रहा हैं। ऐसे में अब अमेरिका भारत के साथ संबंधों और मजबूत करने के लिए हर प्रयास कर रहा है। अमेरिका को भारत के काफी हद तक बड़ी उम्मीदें भी है। जिसके कारण अब अमेरिका, भारत की हर शर्त मानने को तैयार है। इसकी ताजा बानगी उस वक्त देखने को मिली है, जब अमेरिकी प्रतिनिधि सभा (यूएस हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव) ने इंडिया के पक्ष में एक बड़ा निर्णय लिया है। दरअसल, प्रतिनिधसभा ने नेशनल डिफेंस अथॉराइजेशन एक्ट में संशोधन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

यह प्रस्ताव यूएस के ‘काउंटिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस एक्ट’ यानी CAATSA के प्रतिबंधों से दायरे से भारत को बाहर रखता है। इसका मतलब है कि अब भारत यदि रूस से हथियार खरीदता है, तो अमेरिका को कोई ऐतराज नहीं होगी। लेकिन सबसे बड़ी बात ये है कि इस प्रस्ताव के बाद एक नाम की चर्चा सबसे ज्यादा हो रही है। वो कोई और नहीं बल्कि रो खन्ना की है। बता दें कि रो खन्ना भारतीय मूल के अमेरिकी सांसद है। जिनके द्वारा यह प्रस्ताव लाया गया है। जिसे दोनों दलों के सांसदों ने अपनी मंजूरी दी है।

जानिए कौन है रो खन्ना-

चलिए आपको बताते है रो खन्ना के बारे में। जिन्होंने इंडिया के लिए एक तीर से दो शिकार करने काम किया है। दरअसल एक तरफ जहां उन्होंने इस प्रस्ताव के जरिए रूस खुश करने की कोशिश की है, वहीं ड्रैगन की हेकड़ी निकालने का काम किया है। रो खन्ना मूल रूप भारतीय व अमेरिका के सांसद और पेशे से अधिवक्ता हैं। वहीं, साल 2017 से वो कैलिफोर्निया से डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद भी हैं। बात अगर उनके जन्म की करें, तो उनका जन्म 13 सितंबर, 1976 में फिलाडेल्फिया में एक भारतीय पंजाबी हिंदू परिवार में हुआ, जिसके बाद उनके माता पिता अमेरिका में ही जाकर बस गए।

रो खन्ना के पिता एक केमिकल इंजीनियर हैं। जिन्होंने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) और फिर मिशिगन विश्वविद्यालय से स्नातक किया है। उनकी मां शिक्षिका रही हैं। इसके अलावा रो खन्ना ने 8 अगस्त, 2009 से अगस्त 2011 तक राष्ट्रपति बराक ओबामा के तहत संयुक्त राज्य अमेरिका के वाणिज्य विभाग में बतौर उप-सहायक सचिव भी कार्य कर चुके हैं।

आखिर रो खन्ना क्यों लाए यह प्रस्ताव-

अब आपको बताते है कि आखिर रो खन्ना ने क्यों यह प्रस्ताव लाना पड़ा। दरअसल, अमेरिकी सांसद खन्ना का मानना है कि जिस तरह से रूस और चीन के बीच नजदीकियां बढ़ रही है। ऐसे में दोनों की गहरी साझेदारी और हमलावरों को रोकने के लिए अमेरिका द्वारा भारत के पक्ष में फैसला लेना दोनों की रक्षा साझेदारी के हित में होगी।

जानकारी के लिए बता दें कि भारत ने साल 2018 में रूस से एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम के 5 स्क्वाड्रनों के साथ 5.43 अरब डॉलर का सौदा करारा किया था।

Advertisement
Advertisement
Yogi Adityanath
देश6 hours ago

UP News : गीता से मिलती है निष्काम कर्म की प्रेरणा, गीता प्रेस में आयोजित गीता जयंती समारोह में बोले मुख्यमंत्री योगी

देश6 hours ago

Delhi MCD Election: खत्म हुआ मतदान, अब नतीजों का इंतजार, 1349 उम्मीदवारों की किस्मत EVM में कैद

खेल6 hours ago

FIFA 2022 : नॉकआउट मुकाबले में जीत के साथ फ्रांस नौवीं बार विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में, एम्बाप्पे और जिरूड ने दिखाया शानदार खेल, पोलैंड हुई बाहर

बिजनेस7 hours ago

Share Market News : अरबपति निवेशक राधाकिशन दमानी ने VST इंडस्ट्रीज से घटाई अपनी हिस्सेदारी, ब्लॉक डील के जरिए बेच डाले पूरे 33 करोड़ रुपये के शेयर

खेल7 hours ago

Ind vs Ben: बांग्लादेश से मिली शर्मनाक हार से टीम इंडिया पर भड़के फैंस, सोशल मीडिया पर जमकर की खिंचाई

Advertisement