Connect with us

ज्योतिष

Ganesh Utsav 2022: 31 अगस्त 2022 से गणेश उत्सव का आगाज, इन 5 फलों को चढ़ा कर भगवान गजानन को करें प्रसन्न

Ganesh Utsav 2022: गणपति बप्पा को 5 फल बहुत प्रिय है। गणेश चतुर्थी पर इन फलों को भगवान गणेश को अर्पित कर विघ्यहर्ता को खुश कर सकते है

Published

on

नई दिल्ली। गणेश चतुर्थी 31 अगस्त 2022 को है। गणेश उत्सव को 10 दिनों तक मनाया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतु्र्थी तिथि पर गणेश चतुर्थी का पर्व सेलीब्रेट किया जाता है। हिंदू धर्म में भगवान गणेश सबसे पहले पूजे जाने वाले देवता हैं यानी किसी भी तरह का शुभ कार्य या कोई मांगलिक या धार्मिक कार्यक्रम करने से पहले भगवान गणेश की पूजा-आराधना की जाती है तब ही अन्य तरह की पूजा शुरु होती है। ऐसी मान्यता है कि भगवान गणेश की पूजा करने पर सभी प्रकार के कार्य बिना किसी बाधा के सफल होते हैं और भक्तों की हर तरह की विश पूरी होती हैं। गणपति की पूजा करने पर सभी तरह के संकटों से मुक्ति मिल जाती है। बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित होता है वहीं ज्योतिष शास्त्र में भी भगवान गणेश का एक अलग ही स्थान होता है। गणपति बप्पा को 5 फल बहुत प्रिय है। गणेश चतुर्थी पर इन फलों को भगवान गणेश को अर्पित कर विघ्यहर्ता को खुश कर सकते है।

केला –

भगवान गणेश जी को केला बहुत पसंद है। गणेश जी की पूजा में कभी एक केला अर्पित न करें, गणेश भगवान को हमेशा केला जोड़े से चढ़ाना चाहिए।

बेल –

भगवान शिव की तरह गणपति जी को भी बेल का फल बहुत पसंद है मान्यता है गणेश चतुर्थी पर बेल का फल बप्पा को अर्पित करने से उनका विशेष वरदान मिलता है।

अमरूद –

गणेश स्थापन के वक्त पांच फल में अमरूद का भी विशेष स्थान है। ऐसा माना जाता है कि अमरूद अर्पित करने गणेश जी भक्त के सारे कष्ट हर लेते हैं।

सीताफल को शरीफा भी कहा जाता है। गणेश चतुर्थी पर सीताफल विघ्यहर्ता को अर्पित करने से सारे बिगड़े काम सही हो जाते है।
Advertisement
Advertisement
Advertisement