Navratri 2020: नवरात्रि के दूसरे दिन करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, जानें विधि

Navratri 2020: आज नवरात्रि (Navratri 2020) का दूसरा दिन है। इस दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा (Brahmacharini Goddess) की जाती है। मां ब्रह्मचारिणी के नाम का अर्थ- ब्रह्म मतलब तपस्या और चारिणी का अर्थ आचरण करने वाली देवी होता है।

Avatar Written by: October 18, 2020 6:39 pm
brahmacharini devi

नई दिल्ली। आज नवरात्रि (Navratri 2020) का दूसरा दिन है। इस दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा (Brahmacharini Goddess) की जाती है। मां ब्रह्मचारिणी के नाम का अर्थ- ब्रह्म मतलब तपस्या और चारिणी का अर्थ आचरण करने वाली देवी होता है। अगर मां का सच्चे मन से पूजा की जाए तो व्यक्ति को ज्ञान, एकाग्रता और संयम रखने की शक्ति प्राप्त होती है। हम आपको बताते हैं कि मां ब्रह्मचारिणी की पूजा विधि, आरती और मंत्र।

brahmacharini devi 2

सबसे पहले सुबह उठकर नित्यकर्मों से निवृत्त हो जाएं और स्नानादि कर स्वच्छ वस्त्र पहन लें। इसके बाद आसन पर बैठ जाएं। मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करें। उन्हें फूल, अक्षत, रोली, चंदन आदि अर्पित करें। मां को दूध, दही, घृत, मधु व शर्करा से स्नान कराएं। मां को भोग लगाएं। उन्हें पिस्ते की मिठाई का भोग लगाएं। फिर उन्हें पान, सुपारी, लौंग अर्पित करें।

brahmacharini devi 1

मां ब्रह्मचारिणी का मंत्र:

1. या देवी सर्वभेतेषु मां ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

दधाना कर मद्माभ्याम अक्षमाला कमण्डलू।

देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा।।

2. ब्रह्मचारयितुम शीलम यस्या सा ब्रह्मचारिणी.

सच्चीदानन्द सुशीला च विश्वरूपा नमोस्तुते..