साल 2020 के शुरुआत में भी नहीं खत्म हुई ऑटो सेक्टर की सुस्ती, जनवरी में 14% घटी बिक्री

दुनिया भर में जारी आर्थिक मंदी के बीच भारत में भी इसका असर सीधे तौर पर देखने को मिल रहा है। भारतीय बाजार में ऑटो सेक्टर की हालत इस आर्थिक मंदी में सबसे ज्यादा खराब है।

Avatar Written by: February 10, 2020 2:23 pm

नई दिल्ली। दुनिया भर में जारी आर्थिक मंदी के बीच भारत में भी इसका असर सीधे तौर पर देखने को मिल रहा है। भारतीय बाजार में ऑटो सेक्टर की हालत इस आर्थिक मंदी में सबसे ज्यादा खराब है। घरेलू वाहन उद्योग में गिरावट का रुख साल के पहले महीने में भी जारी रहा और सभी श्रेणी के वाहनों की कुल बिक्री 13.83 प्रतिशत घटकर 17,39,975 इकाई रह गई। यात्री वाहनों की बिक्री भी 6.20 प्रतिशत की गिरावट के साथ 2,62,714 इकाई रही। हालांकि 2019 का आखिरी महीना खुशियां लेकर आया था। दिसंबर में मारूति, महिंद्रा और एमजी मोटर की कारों बिक्री में उछाल आया था।auto expo kia carnival

कारों की बिक्री में 8.1% कमी आई है। पिछले महीने 1 लाख 64 हजार 793 कारें बिकीं। जनवरी 2019 में यह आंकड़ा 1 लाख 79 हजार 324 यूनिट था। ऑटोमोबिल इंडस्ट्री बॉडी सियाम ने सोमवार को ऑटो सेल्स के आंकड़े जारी किए।Automobiles Industry मोटरसाइकिल की बिक्री में 15.17% कमी दर्ज की गई है। पिछले महीने 8 लाख 71 हजार 886 मोटरसाइकिलें बिकीं, जनवरी 2019 में 10 लाख 27 हजार 766 यूनिट की बिक्री हुई थी। दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 16.06% घटकर 13 लाख 41 हजार 5 यूनिट रह गई। पिछले साल जनवरी में कुल बिक्री 15 लाख 97 हजार 528 यूनिट बिकी थीं।AutoMobiles

कमर्शियल वाहनों की बिक्री 14.04% घटकर 75 हजार 289 यूनिट रह गई। सभी श्रेणियों के वाहनों की कुल बिक्री में 13.83% कमी आई है। पिछले महीने कुल 17 लाख 39 हजार 975 वाहन बिके। जनवरी 2019 में यह आंकड़ा 20 लाख 19 हजार 253 यूनिट था।auto

देश में एक अप्रैल से भारत स्टेज-6 उत्सर्जन मानक लागू होने को देखते हुए वाहन विनिर्माताओं ने बीएस-4 से बीएस-6 में बदलाव किया है। इस वजह से वाहनों की कीमत बढ़ी है। वहीं लागत में वृद्धि के चलते कई कंपनियों ने जनवरी में वाहन की कीमत बढ़ाई हैं।