बिल गेट्स : चीन के अनुभवों से वैश्विक महामारी के मुकाबले में परिवर्तन आया

बिल गेट्स ने यह भी कहा कि महामारी से पता चलता है कि चाहे व्यक्ति हो या देश एक दूसरे पर निर्भर करते हैं। वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने के लिए हमें सबसे प्रभावी कर्मियों, सबसे प्रभावी टीकों और सबसे प्रभावी दवाओं को खोजने की आवश्यकता है।

Avatar Written by: April 11, 2020 8:47 am

नई दिल्ली। अमेरिकी गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष बिल गेट्स ने कहा कि पूरे चीन में पुष्ट मामलों की संख्या बहुत कम हो गई, विशेष रूप से वुहान में, जो एक बहुत अच्छी खबर है। मुझे विश्वास है कि सख्त अलगाव के दौरान सभी लोग कई कठिनाइयों से गुजरे हैं। हमें उन्हें बधाई देना चाहिए। अलगाव के कदमों का अच्छा प्रभाव हुआ। इसलिए अब काम और अध्ययन के फिर से शुरू करने पर विचार करने के लिए समय है।

Coronavirus outbreak in China

उन्होंने चीन के महामारी के मुकाबले के कदमों की प्रशंसा करते हुए कहा कि चीन सरकार ने जनवरी के अंत से महामारी के मुकाबले में पूरी तरह शक्ति लगायी और संपर्क को कम करने व अलगाव के कदम उठाये, जिससे अच्छे परिणाम प्राप्त हुए। दुनिया में महामारी का अनुभव करने और मुकाबला करने वाला पहले देश के रूप में चीन ने शुरू में बड़ी चुनौतियों का सामना किया क्योंकि लोग बीमारी के बारे में बहुत कम जानते थे। लेकिन अब चीन अन्य देशों की मदद कर रहा है।

Coronavirus china
गेट्स ने कहा कि चीन का अनुभव कम से कम उन देशों के लिए रोकथाम और नियंत्रण का मॉडल प्रदान करता है जो चीन के समान धनी और समृद्ध हैं। लेकिन प्रत्येक देश के अपने विचार हैं और वे पूरी तरह से चीन के अनुभव नहीं सीखेंगे, जो अपनी सामाजिक स्थितियों पर निर्भर करता है। अमेरिका के लिए न्यूयॉर्क जैसे शहरों में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की बड़ी संख्या है और आयातित मामलों की बड़ी संभावना है। विभिन्न कारणों से न्यूयॉर्क ने बहुत पहले से कार्रवाई नहीं की। लेकिन अब उसकी कार्रवाई की गति बहुत तेज हो गई है।

Bill Gates
बिल गेट्स ने यह भी कहा कि महामारी से पता चलता है कि चाहे व्यक्ति हो या देश एक दूसरे पर निर्भर करते हैं। वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने के लिए हमें सबसे प्रभावी कर्मियों, सबसे प्रभावी टीकों और सबसे प्रभावी दवाओं को खोजने की आवश्यकता है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि हम सिर्फ एक देश की सेवा नहीं कर सकते, बल्कि पूरी दुनिया के लिए कर सकते हैं। इसमें वे देश शामिल हैं, जिनके पास टीका अनुसंधान और विकास और उत्पादन संसाधनों की कमी है। हमें व्यावहारिक कार्यों में इन देशों को मदद करने पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

Support Newsroompost
Support Newsroompost