Connect with us

Education

Shruti Sharma: UPSC टॉपर श्रुति शर्मा ने अभिभावकों और शिक्षकों को दिया सफलता का श्रेय, ये भी बताया क्यों नहीं निकाल पाई थीं पिछला एग्जाम

Shruti Sharma: इस महत्वपूर्ण परीक्षा में अंकिता अग्रवाल नामक उम्मीदवार ने आल इंडिया सेकेंड रैक हासिल की है। तीसरा स्थान गामिनी सिंगला को मिला है। इस साल शीर्ष तीन पदों पर लड़कियों ने बाजी मारी है। यूपीएससी परीक्षा में चौथा स्थान ऐश्वर्य वर्मा और पांचवां स्थान उत्कर्ष द्विवेदी को प्राप्त हुआ है।

Published

on

नई दिल्ली। सिविल सर्विसेस 2021 के लिए संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। यूपीएससी की इस परीक्षा में श्रुति शर्मा ने टॉप किया है। श्रुति शर्मा ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि, ‘टॉप करने की उम्मीद नहीं थी, बस इतना था की क्लियर हो जाएगा। लेकिन अब खुश हूं और एक राहत भी है कि पढ़ाई पूरी हुई, क्योंकि सिलेबस भी बहुत ज्यादा रहा और लगातार पढ़ाई करती रही और पढ़ाई करते वक्त समय नहीं देखा। अब मौका मिला है तो खुश हूं कि अब देश की सेवा करूंगी। मैंने इस बार दूसरी कोशिश की, क्योंकि पहली कोशिश में फॉर्म गलत भर जाने के कारण मुझे हिंदी में पेपर देना पड़ा, जिसमें एक नंबर से मैं पीछे रह गई थी। इस बार अंग्रेजी में पेपर लिखा और क्लियर हो गया। पापा को जब पता लगा तो बहुत भावुक हुए और वह दिल्ली वापस आ रहे हैं, माता पिता की खुशी देखकर ही मुझे सबसे ज्यादा खुशी हुई।’ वहीं इस महत्वपूर्ण परीक्षा में अंकिता अग्रवाल नामक उम्मीदवार ने आल इंडिया सेकेंड रैक हासिल की है। तीसरा स्थान गामिनी सिंगला को मिला है। इस साल शीर्ष तीन पदों पर लड़कियों ने बाजी मारी है। यूपीएससी परीक्षा में चौथा स्थान ऐश्वर्य वर्मा और पांचवां स्थान उत्कर्ष द्विवेदी को प्राप्त हुआ है। लड़कियों के बाजी मारने पर श्रुति शर्मा ने कहा कि, ‘लड़कियों को हमेशा सपोर्टिव महौल नहीं मिल पाता है, अब गांव और शहरों में माता पिता अपनी बेटियों को सहयोग देने लगे हैं, जिस वजह से लड़कियां आगे बढ़ रही हैं।’ यूपीएससी टॉपर श्रुति ने दिल्ली विश्वविद्यालय सेंट स्टीफंस कॉलेज और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है।यूपीएससी परीक्षा की कोचिंग उन्होंने जामिया मिलिया इस्लामिया की आवासीय कोचिंग अकादमी (आरसीए) में ली है।

श्रुति ने जामिया के टीचरों की तारीफ करते हुए कहा कि, ‘जामिया में आरसीए का एक बड़ा योगदान रहा है, एक अच्छा माहौल दिया गया और अच्छे टीचर दिए गए। तारिक और फारुकी सर ने मुझे बताया कि किस तरह पढ़ाई करनी है। उन्होंने यूपीएससी की तैयारी कर रहे अन्य छात्रों को संदेश देते हुए कहा कि, यदि आपका मन है, तभी आप इस परीक्षा की तैयारी करें, किसी तरह के दबाब में आकर आप पढ़ाई न करें। जब तक आप खुद तैयार नहीं है तो कुछ नहीं कर सकेंगे।’ श्रुति शर्मा की मां रचना शर्मा ने भगवान का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि, ‘हमें अपनी बेटी पर यकीन था कि वो कर लेगी, रात दिन उसने पढ़ाई की और आज हमें ये दिन देखने को मिला। परिवार और घर के अन्य सभी सदस्य बहुत खुश हैं। श्रुति के पापा फिलहाल दिल्ली में नहीं है, लेकिन जब से उन्हें पता लगा है, वह दिल्ली के लिए निकल गए हैं।’ दरअसल, यूपीएससी का ये परिणाम की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिया गया है।

इस बीच यूपीएससी परीक्षा का रिजल्ट जारी होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘उन सभी को बधाई जिन्होंने सिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2021 को पास किया है। इन युवाओं को मेरी शुभकामनाएं जो भारत की विकास यात्रा के एक महत्वपूर्ण समय में तब अपने प्रशासनिक करियर की शुरूआत कर रहे हैं, जब हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं।’

जो युवा यह परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर सके उनके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘मैं उन लोगों की निराशा को पूरी तरह से समझता हूं जो सिविल सेवा परीक्षा को पास नहीं कर सके, लेकिन मैं यह भी जानता हूं कि ये उत्कृष्ट युवा हैं जो किसी भी क्षेत्र में अपनी छाप छोड़ेंगे और भारत को गौरवान्वित करेंगे। उन्हें मेरी शुभकामनाएं।’

गौरतलब है, कि इन परीक्षाओं के लिए मार्च 2021 को पंजीकरण शुरू किया था। प्रारंभिक परीक्षा जून 2021 में आयोजित की गई थी। ये परीक्षा 712 सिविल सेवा पदों को भरने के लिए थी। यूपीएससी सिविल सेवा के जरिए इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज (आईएएस), भारतीय पुलिस सर्विसेज (आईपीएस) और भारतीय फॉरेन सर्विसेज (आई एफ एस ), रेलवे ग्रुप ए (इंडियन रेलवे अकाउंट्स सर्विस), इंडियन पोस्टल सर्विसेज, भारतीय डाक सेवा, इंडियन ट्रेड सर्विसेज सहित अन्य सेवाओं के लिए चयन किया जाता है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement