कंगना रनौत का तगड़ा प्रहार, ट्वीट कर कहा- मैं एक क्षत्राणी हूं, सर कटा सकती हूं, लेकिन…

Kangana Ranaut new Tweet Shivsena Mumbai Sanjay Raut,शिवसेना(Shivsena) और कंगना(Kangana Ranaut) के बीच छिड़ी तकरार कम होने का नाम नहीं ले रही है। कंगना के दफ्तर पर बीएमसी(BMC) का बुल्डोजर चलने के बाद कंगना लगातार उद्धव सरकार पर निशाना साधते जा रही हैं।

Avatar Written by: September 17, 2020 12:46 pm

नई दिल्ली। मुंबई से मनाली लौट चुकी कंगना रनौत(Kangana Ranaut) अब लगातार अपने सख्त तेवर ट्विटर के माध्यम से सामने ला रही हैं। शिवसेना सांसद संजय राउत द्वारा उन्हें अपमानजनक शब्द कहे जाने के बाद से वो लगातार उद्धव ठाकरे सरकार(Uddhav Thackeray) व संजय राउत पर करारा प्रहार कर रही हैं। गुरुवार को कंगना रनौत ने बिना किसी का नाम लिए एक ट्वीट में खुद के स्वाभिमान की बात की है।

kangana ranaut

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि, “मैं एक क्षत्राणी हूं। सर कटा सकती हूं, लेकिन सर झुका सकती नहीं! राष्ट्र के सम्मान के लिए हमेशा आवाज़ बुलंद करती रहूंगी। मान, सम्मान, स्वाभिमान के साथ जी हूं और गर्व से राष्ट्रवादी बनकर जीती रहूंगी! सिद्धांत के साथ नहीं कभी समझौता की हूं नहीं कभी करूंगी! जय हिंद।”

Kangana Ranaut

 

बता दें कि शिवसेना और कंगना के बीच छिड़ी तकरार कम होने का नाम नहीं ले रही है। कंगना के दफ्तर पर बीएमसी का बुल्डोजर चलने के बाद कंगना लगातार उद्धव सरकार पर निशाना साधते जा रही हैं। बीएमसी की कार्रवाई के ठीक बाद उन्होंने एक वीडियो जारी कर उद्धव ठाकरे पर अपनी भड़ास निकाली थी।

ट्विटर पर अपलोड हुए वीडियो में कंगना ने कहा था कि, “उद्धव ठाकरे, तुझे क्या लगता है कि तुने फिल्म माफिया के साथ मिलके, मेरा घर तोड़के, मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है। आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा। ये वक्त का पहिया है, याद रखना…हमेशा एक जैसा नहीं रहता। और मुझे लगता है कि तुमने मुझपर बहुत बड़ा एहसान किया है। क्योंकि मुझे पता तो था कि कश्मीरी पंडितों पर क्या बीती होगी, आज मैने महसूस किया है।”

कंगना ने अपने वीडियो में कहा था कि, “आज मैं इस देश को वचन देती हूं कि मैं सिर्फ अयोध्या पर ही नहीं बल्कि कश्मीर पर भी एक फिल्म बनाउंगी। और अपने देशवासियों को जगाउंगी…क्योंकि मुझे पता था कि हमारे साथ होगा तो होगा लेकिन मेरे साथ हुआ, इसका कोई मतलब है, इसके कोई मायने हैं। और उद्धव ठाकरे, ये जो क्रूरता, ये जो आतंक हैं, अच्छा हुआ ये मेरे साथ हुआ, क्योंकि इसके कुछ मायने हैं…जय हिंद…जय महाराष्ट्र।”