कंगना पर शिवसेना का हमला जारी, मुखपत्र ‘सामना’ में संपादकीय में देखिए क्या लिखा

सामना(Saamana) में शिवसेना(Shivsena) ने संपादकीय के जरिए अभिनेत्री कंगना रनौत(Kangna) पर बिना उनका नाम लिए निशाना साधा है। संपादकीय में लिखा गया, “मुंबई पाक अधिकृत कश्मीर है कि नहीं, यह विवाद जिसने पैदा किया है, उसी को मुबारक।”

Avatar Written by: September 12, 2020 2:47 pm
Kangana and Sanjay

नई दिल्ली। कंगना के ऑफिस पर बीएमसी की कार्रवाई के बाद कंगना रनौत और शिवसेना के बीच अब जुबानी जंग तेज हो गई है। जहां कंगना लगातार ट्विटर के जरिए शिवसेना पर निशाने साध रही हैं, तो वहीं शिवसेना भी लगातार अपने मुखपत्र सामना के जरिए कंगना पर हल्ला बोल रही है। सामना में कंगना को लेकर खबरें छप रही हैं।

Saamana kangna

 

सामना में शिवसेना ने संपादकीय के जरिए अभिनेत्री कंगना रनौत पर बिना उनका नाम लिए निशाना साधा है। संपादकीय में लिखा गया, “मुंबई पाक अधिकृत कश्मीर है कि नहीं, यह विवाद जिसने पैदा किया है, उसी को मुबारक।” इसके अलावा इस संपादकीय में आगे लिखा गया, “परिवारवाद का वर्चस्व है ही ऐसा, उस समय भी था, कपूर, रोशन, दत्त, शान्ताराम जैसे खानदान से अगली पीढ़ी आई है लेकिंन जिन लोगों ने अच्छा काम किया, वह टिके।”

Kangna Office

उसमें आगे लिखा गया, “राजेश खन्ना किसी घराने के नहीं थे, जितेंद्र और धर्मेंद्र भी नहीं थे। मुंबई को बनाने और सवारने में योगदान दिया। पानी में रहकर मगरमच्छ से बैर नहीं किया या खुद कांच के घर में रहकर दुसरों के घर पर पत्थर नहीं फेका। जिन्होंने फेका, उन्हें मुंबई का श्राप लगा। मुंबई को कम आंकना, खुद ही खुद के लिए गड्ढा खोदने जैसा है। अगर किसी को ऐसा लग रहा होगा कि उस चिंगारी पर राख जम गई है, तो वह एक बार फूंक मार कर देखें।”

kangna ranaut

बता दें कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद कंगना रनौत लगातार इस मामले में अपनी बात रख रही हैं। इस दौरान कंगना महाराष्ट्र सरकार को लेकर भी किए गए। इसी के चलते शिवसेना ने भी कंगना पर पलटवार किया। हालत यहां तक आ गई कि, कंगना द्वारा मुंबई को असुरक्षित बताए जाने के बाद से शिवसेना और उनके बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। इसी दौरान 9 सितंबर को BMC द्वारा कंगना रनौत के कार्यालय के कुछ हिस्सों को गिराया गया, जिसे विवाद और बढ़ गया। अभिनेत्री ने बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर ” सत्ता के दुरुपयोग ” का आरोप लगाते हुए महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधा और घोषणा की कि उनकी आवाज दूर तक जाएगी।