दिल्ली में तापमान 45.4 डिग्री पार, जानें कब मिलेगी गर्मी से राहत

देश की राजधानी इन दिनों गर्मी से भी जूझ रही है। लॉकडाउन 4.0 में मिली छूट के बावजूद लोग गर्मी के चलते बाहर निकलने से परहेज कर रहे हैं। शुक्रवार को सीजन का सबसे गर्म दिन रहा, जब पारा 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया।

Written by: May 23, 2020 11:44 am

नई दिल्ली। देश की राजधानी इन दिनों गर्मी से भी जूझ रही है। लॉकडाउन 4.0 में मिली छूट के बावजूद लोग गर्मी के चलते बाहर निकलने से परहेज कर रहे हैं। शुक्रवार को सीजन का सबसे गर्म दिन रहा, जब पारा 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया।

गर्म हवा चलने से पालम और लोधी इलाके में काफी गर्मी देखने को मिली। यहां का मैक्सिमम टेम्‍प्रेचर लगभग 45.4 और 44.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दोनों क्षेत्रों के तापमान में 5 डिग्री का इजाफा देखने को मिला है। इस वक्‍त, राजस्थान से उत्तर प्रदेश, बिहार और दिल्ली तक गर्म हवाएं चल रही हैं जिससे गर्मी बढ़ी है।

दिल्‍ली वालों को फिलहाल गर्मी से राहत मिलने की संभावना नही है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले हफ्ते भी अधिकतम पारा 43-45 डिग्री के बीच रह सकता है। राजस्‍थान की ओर से गर्म हवाएं दिल्‍ली में आने वाली हैं। एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ के चलते शनिवार-रविवार को कुछ जगह बादल छाए रहेंगे। एक-दो जगह हल्‍की बारिश भी हो सकती है मगर उमस कम नहीं होगी।

आपको बता दें कि शुक्रवार को सीजन के सबसे गर्म दिन के रूप में दर्ज किया गया। शहर के कुछ हिस्सों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को पार किया। मौसम विज्ञान विभाग के उत्तर-पश्चिम मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के कहा, “दिल्ली में गर्म हवा चलने से पालम और लोधी पर काफी गर्मी देखने को मिली। यहां इस मौसम का उच्चतम तापमान, क्रमश: 45.4 और 44.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा।”

दोनों क्षेत्रों के तापमान में 5 डिग्री की बढ़ोत्तरी देखने को मिली। सफदरजंग में तापमान 43.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हीटवेव को तब घोषित किया जाता है जब लगातार दो दिनों के लिए अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस और गंभीर हीटवेव तब होता है जब पारा दो दिनों के लिए 47 डिग्री सेल्सियस के पैमाने को छू लेता है।

इससे पहले शुक्रवार को आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने आईएएनएस को बताया कि चक्रवात अम्फान के बाद उत्तर और मध्य भारत में तापमान में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा, “जब चक्रवात बंगाल की खाड़ी में बनता है तो हवा उत्तर-पश्चिम से समुद्र तट की ओर बहती है। इस समय, राजस्थान से उत्तर प्रदेश, बिहार और दिल्ली तक गर्म हवाएं चल रही हैं जिससे अधिकतम तापमान के कारण गर्मी बढ़ी है।”

Heat Stroke

निजी पूवार्नुमान लगाने वाली एजेंसी स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने कहा कि 27 मई तक देश भर में शुष्क और गर्म हवाएं चलेंगी। मई में ही नहीं, बल्कि जून में भी देश के कई हिस्सों में गर्मी का असर बढ़ सकता है। आईएमडी ने यह भी चेतावनी दी है कि अगले पांच दिनों तक राजस्थान और मध्य प्रदेश में हीटवेव की स्थिति बनी रहेगी।