Connect with us

देश

Mumbai: हनुमान चालीसा से चर्चा में आईं सांसद नवनीत राणा को अब BMC का नोटिस, कहा- अवैध निर्माण गिराओ वरना…

राणा दंपति को बीएमसी ने शनिवार को नोटिस भेजा है। इसमें लिखा गया है कि नोटिस मिलने के 7 दिन में आपको उल्लेखित कंस्ट्रक्शन हटाने का निर्देश दिया जाता है। ऐसा न करने पर निगम आपके जोखिम और लागत पर इस कंस्ट्रक्शन को हटा सकता है। एमएसी एक्ट की धारा 475-ए के तहत आपको एक अवधि के लिए जेल भेजा जा सकता है।

Published

navneet kaur rana

मुंबई। हनुमान चालीसा मामले से चर्चा में आईं सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा के सामने अब नई मुश्किल खड़ी हो गई है। बृहन्नमुंबई महानगर पालिका BMC ने उन्हें मुंबई के खार स्थित फ्लैट में अवैध निर्माण गिराने का नोटिस जारी किया है। बीएमसी ने कहा है कि 7 दिन में खुद अवैध निर्माण गिरा दें, वरना वो कार्रवाई करेगी। पालिका ने कहा है कि अगर अवैध निर्माण न गिराया गया, तो फ्लैट मालिक को एक महीने की जेल भी हो सकती है। इससे पहले भी बीएमसी ने राणा दंपति को अवैध निर्माण पर नोटिस दिया था। ये भी खास बात है कि बीएमसी पर शिवसेना काबिज है और शिवसेना सुप्रीमो और सीएम उद्धव ठाकरे के घर के बाहर राणा दंपति ने हनुमान चालीसा पढ़ने का एलान किया था। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेजा था।

राणा दंपति को बीएमसी ने शनिवार को नोटिस भेजा है। इसमें लिखा गया है कि नोटिस मिलने के 7 दिन में आपको उल्लेखित कंस्ट्रक्शन हटाने का निर्देश दिया जाता है। ऐसा न करने पर निगम आपके जोखिम और लागत पर इस कंस्ट्रक्शन को हटा सकता है। एमएसी एक्ट की धारा 475-ए के तहत आपको एक अवधि के लिए जेल भेजा जा सकता है। जिसकी अवधि एक महीने से कम नहीं होगी और उसे एक साल तक लिए बढ़ाया जा सकता है। बीएमसी ने ये भी नोटिस में लिखा है कि अवैध निर्माण के मामले में 5000 से 25000 रुपए तक का जुर्माना और हर रोज 500 रुपए का जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

bmc

बीएमसी ने अपने नोटिस में बताया है कि राणा दंपति ने फ्लैट में क्या अवैध निर्माण कराया है। नोटिस में कहा गया है कि आपने लिफ्ट के बगल की जगह मिलाकर टॉयलेट बना दिया है। पूजा के कमरे को किचन में मिला दिया गया है और उसे लिविंग एरिया बनाया गया है। ढलान वाली छत चपटी करके बगल के बेडरूम में मिला दी गई है। लिविंग रूम को किचन और बेडरूम में बांटा गया है। दक्षिण-पश्चिम दिशा के बाथरूम को बेडरूम के साथ मिलाया गया है और पश्चिमी दिशा में मौजूद दो बेडरूम को मिलाकर एक किया गया है। अगर ये सारे कंस्ट्रक्शन गिराए गए, तो नवनीत राणा का फ्लैट रहने लायक नहीं रह जाएगा। सवाल ऐसे में ये भी उठ रहे हैं कि हनुमान चालीसा के विवाद के बाद ही राणा दंपति का अवैध कंस्ट्रक्शन आखिर बीएमसी को कैसे दिखा?

Advertisement
Advertisement
Advertisement