Connect with us

देश

योगी सरकार को घेरने के चक्कर में खुद फंसी प्रियंका, आगरा के डीएम ने खोली पोल, भेजा नोटिस

आगरा के डीएम प्रभु एन सिंह ने प्रियंका गांधी के दावों को गलत बताया है, साथ ही उन्हें नोटिस भी भेज दिया है। उन्होंने भ्रामक खबर फैलाने और 24 घंटे में भ्रामक खबर का खंडन जारी करने के लिए कहा है। 

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी के आगरा में 48 घंटे में 28 कोरोना मरीजों की मौत को लेकर ट्वीट कर योगी सरकार को घेरने की कोशिश की। हालांकि इस ट्वीट के बाद प्रियंका गांधी खुद मुश्किल में फंस गई है। आगरा के डीएम प्रभु एन सिंह ने प्रियंका गांधी के दावों को गलत बताया है, साथ ही उन्हें नोटिस भी भेज दिया है। उन्होंने भ्रामक खबर फैलाने और 24 घंटे में भ्रामक खबर का खंडन जारी करने के लिए कहा है।

Priyanka Gandhi yogi

बता दें कि प्रियंका गांधी ने सोमवार को एक खबर को ट्वीट करते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमला किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘आगरा में 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोरोना मरीजों की मृत्यु हो गई। यूपी सरकार के लिए कितनी शर्म की बात है कि इसी मॉडल का झूठा प्रचार करके सच दबाने की कोशिश की गई। सरकार की नो टेस्ट-नो कोरोना पॉलिसी पर सवाल उठे थे, लेकिन सरकार ने उसका कोई जवाब नहीं दिया। अगर यूपी सरकार सच दबाकर कोरोना मामले में इसी तरह लगातार लापरवाही करती रही तो बहुत घातक होने वाला है।’

इसके जवाब में डीएम प्रभु सिंह ने प्रियंका गांधी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा कि, जिस अखबार में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मृत्यु के संबंध में डेथ ऑडिट का हवाला दिया गया है। पिछले 109 दिनों में आगरा में अबतक कुल 1136 केस एवं 79 मृत्यु हुई है। पिछले 48 घंटों में भर्ती हुए 28 कोरोना मरीजों की मृत्यु की खबर असत्य है।

जानिए नोटिस में क्या लिखा?

इसके बाद डीएम ने नोटिस जारी करते हुए लिखा कि, इस समय संपूर्ण भारतवासी कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लड़ रहे हैं, जो कोरोना वॉरियर्स/कोरोना फाइटर्स एवं जनसामान्य पर प्रतिकूल प्रभाव और भय का वातावरण पैदा करता है। जबकि सच्चाई ये है कि, 109 दिनों में जिले में कोरोना से अब तक 1139 केस आए हैं। 79 मरीजों की मौत हुई है। पिछले 48 घंटे में 28 मरीजों की मौत की सूचना असत्य व निराधार है।

DM Letter

ऐसे में भ्रामक व असत्य खबर का 24 घंटे के अंदर खंडना करें, ताकि इस कोविड के संक्रमण में समस्त नागरिकों और किसी भी पद पर कार्यरत कर्मी को सही स्थिति की जानकारी मिल सके। इस महामारी में लगे हुए कर्मियों के मनोबल को ठेस न पहुंचे।

priyanka gandhi

गौरतलब है कि प्रियंका गाधी लगातार सोशल मीडिया के जरिए योगी सरकार पर हमला कर रही है। इससे पहले उन्होंने कानपुर के शेल्टर होम में बच्चियों के कोरोना संक्रमित होने और कुछ के प्रेग्नेंट होने की खबर पर सरकार को घेरा था।

Advertisement
Advertisement
Advertisement