दिल्ली पुलिस की शानदार पहल, एम्स में प्लाज्मा डोनेशन अभियान किया शुरू ताकि बचाई जाए लोगों की जान

दिल्ली पुलिस की पहल पर रविवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) नई दिल्ली में ‘प्लाज्मा दान अभियान’ शुरू किया गया।

Avatar Written by: July 19, 2020 6:57 pm

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की पहल पर रविवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) नई दिल्ली में ‘प्लाज्मा दान अभियान’ शुरू किया गया। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन मुख्य अतिथि थे, जबकि पुलिस आयुक्त एस.एन. श्रीवास्तव इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि थे। दिल्ली पुलिस के एडिशनल पीआरओ अनिल मित्तल ने कहा, “अभियान का उद्देश्य लोगों को कोविड-19 रोगियों के इलाज के लिए प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित करना है।”

Delhi police Plasma Donation AIIMS

दिल्ली पुलिस की एक महिला कांस्टेबल सहित 26 पुलिसकर्मियों ने अपने प्लाज्मा का दान कर अभियान को शुरू किया।

Delhi police Plasma Donation AIIMS

अधिकारी ने कहा, “दिल्ली पुलिस के 650 से अधिक कर्मियों द्वारा सप्ताह भर के अभियान के दौरान प्लाज्मा दान करने की संभावना है।”

Delhi police Plasma Donation AIIMS

एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने दिल्ली पुलिस की पहल की सराहना की और डोनर पुलिस कर्मियों को ‘सुपर कोरोना वॉरियर्स’ कहा, क्योंकि वे पहले घातक वायरस से प्रभावित थे और बाद में उन्होंने दूसरों की जान बचाने के लिए स्वेच्छा से अपना प्लाज्मा दान किया।

उन्होंने लोगों से आगे आने और प्लाज्मा दान करने की अपील की क्योंकि इससे गंभीर रोगियों के इलाज में मदद मिलेगी।

Delhi police Plasma Donation AIIMS

इस अवसर पर श्रीवास्तव ने कहा, ” कोरोनावायरस से निपटना एक अनोखा अनुभव रहा है क्योंकि हममें से कोई भी नहीं जानता था कि क्या किया जाए। पुलिस की दो प्रमुख जिम्मेदारियां हैं, कानून-व्यवस्था बनाए रखना और लॉकडाउन को लागू कराना। साथ ही हमारे अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देने और पुलिस फोर्स को प्रेरित करते रहने की भी चुनौती थी। सरकार का ‘विजिबिल आर्म्स’ होने के नाते, पुलिस को सरकार के निर्देशों को लागू करना सुनिश्चित करना ही होता है।”

Delhi police Plasma Donation AIIMS

फ्रंटलाइन वॉरियर्स होने के नाते पुलिस कर्मियों के वायरस के संपर्क में आने की सबसे अधिक आशंका रहती है। परिणामस्वरूप 2,500 से अधिक कर्मी संक्रमित हो गए और एक दर्जन जान गंवा बैठे। हालांकि, ठीक होने की दर 84 प्रतिशत से अधिक है। 2,100 से अधिक पुलिसकर्मी ठीक हो चुके हैं।


प्लाज्मा बैंक बनाने की पहल करने के लिए दिल्ली पुलिस के प्रयासों की सराहना करते हुए हर्षवर्धन ने इस आयोजन को पवित्र, महान और प्रेरणादायक बताया। उन्होंने कहा, “दिल्ली पुलिस के जवानों ने खुद की तकलीफों को नजरअंदाज करते हुए दूसरों की जान बचाने के लिए स्वेच्छा से प्लाज्मा दान करके एक मिसाल कायम की है। यह अन्य कोरोना योद्धाओं को अपने प्लाज्मा दान करने के लिए प्रेरित करेगा।”

Delhi police Plasma Donation AIIMS

मुख्य अतिथि ने अमर कालोनी पुलिस स्टेशन के सीटी ओम प्रकाश की सराहना की, जिन्होंने अपना प्लाज्मा तीन बार दान किया। उन्होंने प्लाज्मा दाताओं को ‘प्लाज्मा वारियर्स’ कहा।