महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला, मुख्यमंत्री समेत सारे कर्मचारियों की सैलरी में होगी 60% तक की कटौती

राज्य के अधिकारियों और कर्मचारियों के वेतन में भी कटौती की जाएगी। पवार के अनुसार ग्रेड ए और बी अधिकारियों के वेतन में 50 प्रतिशत और ग्रेड सी के कर्मचारियों के वेतन में 25 प्रतिशत की कटौती की जाएगी। ग्रेड डी कर्मचारियों के वेतन में कोई कटौती नहीं की जाएगी।

Written by: March 31, 2020 3:09 pm

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और वित्तमंत्री अजीत पवार ने कोरोनावायरस से लड़ने के लिए बड़ी घोषणा की है। अजीत पवार ने बताया कि मुख्यमंत्री समेत सभी विधायक और विधान पार्षद प्रतिनिधियों के मार्च महीने के वेतन में 60 प्रतिशत की कटौती की जाएगी। कोरोनावायरस के कारण प्रभावित हो रही अर्थव्यवस्था को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

ajit pawar

राज्य के अधिकारियों और कर्मचारियों के वेतन में भी कटौती की जाएगी। पवार के अनुसार ग्रेड ए और बी अधिकारियों के वेतन में 50 प्रतिशत और ग्रेड सी के कर्मचारियों के वेतन में 25 प्रतिशत की कटौती की जाएगी। ग्रेड डी कर्मचारियों के वेतन में कोई कटौती नहीं की जाएगी। उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और कर्मचारियों की विभिन्न यूनियनों के साथ परामर्श के बाद यह निर्णय लिया गया है।

इससे पहले सोमवार को तेलंगाना सरकार ने भी कर्मचारियों के वेतन में कटौती का ऐलान किया। कोरोना और राज्य के खजाने पर आर्थिक संकट के मद्देनजर तेलंगाना की के चंद्रशेखर राव यानी केसीआर की सरकार ने राज्य के सभी मंत्रियों, विधायकों, अधिकारियों, कर्मचारियों की सैलरी में 75 परसेंट तक की कटौती का फैसला किया है।