Connect with us

देश

BJP Chintan Shivir: भाषण दे रहे थे अनिल विज, तभी बार-बार टोकने लगे अमित शाह, जानिए क्या है पूरा मामला

BJP Chintan Shivir: गृह मंत्री ने फरीदाबाद में बीजेपी की जारी जन उत्थान रैली को संबोधित भी किया जिसके बाद वो सूरजकुंड पहुंचे जहां उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दो दिवसीय चिंतन शिविर का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम के दौरान एक ऐसा वाक्या भी देखने को मिला जो अब सोशल मीडिया पर खूब चर्चा बटोर रहा है।

Published

amit shah Anil Vij

नई दिल्ली। एक दिन पहले 27 अक्टूबर, गुरुवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) हरियाणा दौरे पर थे। अपने हरियाणा दौरे के दौरान अमित शाह ने यहां कई आयोजनों में शिरकत की। गृह मंत्री ने फरीदाबाद में बीजेपी की जारी जन उत्थान रैली को संबोधित भी किया जिसके बाद वो सूरजकुंड पहुंचे जहां उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दो दिवसीय चिंतन शिविर का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम के दौरान एक ऐसा वाक्या भी देखने को मिला जो अब सोशल मीडिया पर खूब चर्चा बटोर रहा है।

amit shah Anil Vij

बता दें, ये वाक्या अमित शाह और हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज से जुड़ा हुआ है। होता कुछ यूं है कि हरियाणा के सूरजकुंड में बीजेपी के दो दिवसीय चिंतन शिविर की शुरुआत के लिए वहां केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पहुंचे होते हैं। अमित शाह के पहुंचने के बाद कार्यक्रम की शुरूआत भाषण से होती है। मंच पर एक के बाद एक संबोधन का सिलसिला चलने लगता है। तभी हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज मंच पर आते हैं। उन्हें मंच से अपने भाषण के जरिए अमित शाह का स्वागत करना होता है। वो अपने संबोधन को शुरू करते हैं लेकिन निश्चित वक्त से भी ज्यादा देर तक विज का जब भाषण चलता रहता है तो वहां बगल में ही मौजूद अमित शाह उन्हें एक नोट के जरिए रूकने के लिए कहते हैं। शाह (केंद्रीय गृह मंत्री) के टोकने के बावजूद विज नहीं रूकते और भाषण को जारी रखते हैं। हद तो तब हो जाती है जब एक बार नहीं दो बार नहीं माइक पर उंगलियां बजाकर भी शाह, अनिल विज को 4 बार रूकने का इशारा करते हैं लेकिन वो नहीं मानते। आखिर में अमित शाह नाराज हो जाते हैं और विज से ये कह देते हैं कि अनिल जी मुझे माफ कीजिए, लेकिन ये नहीं चलेगा। अब चिंतन शिविर के बीच अनिल विज को शाह द्वारा टोके जाने का मामला खूब चर्चा में बना हुआ है।

amit shah Anil Vij

5 मिनट था वक्त लेकिन साढ़े आठ मिनट तक बोलते रहे विज

अनिल विज को अपने भाषण में अमित शाह के वहां आने का स्वागत करना था लेकिन वो अपने भाषण में शाह की तारीफ के बाद हरियाणा का इतिहास और हरित क्रांति में इसका योगदान बताने लगते हैं। कुछ समय तक तो सब सही चला लेकिन जब काफी समय बाद भी विज का भाषण खत्म नहीं हुआ तो अमित शाह द्वारा उन्होंने कुल चार बार इसके लिए रोका जाता है। आखिर में शाह ने जब ये बात कही कि ‘अनिल जी मुझे माफ कीजिए, लेकिन ये नहीं चलेगा’ तब जाके विज रूके।


आपको बता दें, भारतीय जनता पार्टी के इस दो दिवसीय चिंतन शिविर में 9 बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और बड़े पुलिस अधिकारी शामिल हो रहे हैं। शिविर में कई जरूरी मुद्दों जैसे कानून-व्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर भी चर्चा की जानी है। अमित शाह के शामिल होने के बाद अब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस चिंतन शिविर को संबोधित करने की उम्मीद है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement