Amit Shah

विलय के बाद संगठन के स्वरूप और उसमें बाबूलाल मरांडी की भूमिका पर भी चर्चा हो रही है। भाजपा नेताओं ने मरांडी को महत्वपूर्ण दायित्व देने की बात कही, पर मरांडी ने कहा कि वे एक सामान्य कार्यकर्ता के रूप में भाजपा में शामिल होंगे। उन्हें पद की कोई लालसा नहीं।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को यहां कहा कि जनता के हर सुख-दुख में साथ रहने वाली दिल्ली पुलिस को कभी दुखी नहीं रहने दिया जाएगा, और केंद्र सरकार ने करीब 225 करोड़ रुपये का बजट पास करके दिल्ली पुलिस कर्मियों के आशियाने के इंतजाम को अंतिम रूप दे दिया है।

पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की दिगंवत नेता सुषमा स्वराज का आज 68वां जन्मदिन है। जन्मदिन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई दिग्गजों ने उन्हें याद किया।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 'गोली मारो' और 'भारत-पाक मैच' जैसे बयानों ने भाजपा नेताओं को बचना चाहिए था।

अमित शाह ने कहा, "बंगाल की खाड़ी से जुड़े सभी देश सांस्कृतिक, भौगोलिक, राजनीतिक तरीके से भारत के बहुत करीब हैं। इसलिए विभिन्न विषयों पर हमारे एकजुट प्रयासों की आवश्यकता है।"

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह गुरुवार को नई दिल्ली में नशीले पदार्थो की तस्करी रोकने के संबंध में बिम्सटेक (बहु-क्षेत्रीय तकनीक और आर्थिक सहयोग के लिए बंगाल की खाड़ी पहल) सहयोगी देशों के दो दिवसीय सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे।

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की करारी हार हुई है। इस हार से भाजपा का शीर्ष नेतृत्व सकते में है। पूरे दमखम और केंद्रीय नेतृत्व की पूरी फौज चुनावी समर में झोंकने के बावजूद भाजपा को महज 8 सीटों पर जीत मिली।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए वोटों की गिनती का रुझान साफ होते ही भाजपा ने हार मान ली है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिल्ली प्रदेश कार्यालय पर एक पोस्टर लगाया गया है, जिसके सामने आने के बाद अटकलें लगनी लगी हैं कि क्या भाजपा को पहले से ही अंदाजा था कि वह वोटों की गिनती में पिछड़ जाएगी।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि जो मोदी-शाह के खिलाफ आवाज उठाएगा वो सही मायने में मर्द-ए-मुजाहिद कहलाएगा... मैं वतन में रहूंगा, कागज नहीं दिखाऊंगा। कागज अगर दिखाने की बात होगी तो सीना दिखाएंगे की मार गोली। मार दिल पे गोली मार क्योंकि दिल में भारत की मोहब्बत है।

गौरतलब है कि भाजपा के नेता दावा तो कर रहे हैं कि दिल्ली में केजरीवाल को नुकसान होगा और भाजपा पूरे बहुमत से आएगी, लेकिन असली नतीजे क्या होंगे, ये तो 11 फरवरी को ही पता चलेंगे।