Amit Shah

2014 के लोकसभा चुनावों के बाद से भाजपा ने पलटकर कभी पीछे नहीं देखा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने हर मुश्किल को मौके में बदला और सात राज्यों में विपक्ष से छीनकर सरकार बनाई।

अमित शाह की पहल का ही नतीजा था कि दिल्ली में कोरोना का इलाज सबसे सस्ता हो पाया था। अब इसे यूपी और हरियाणा जैसे राज्यों में भी लागू कराने की अमित शाह की योजना है।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक, संसदीय बोर्ड में 11 से 12 सदस्यों का कोटा होता है। हालांकि, राष्ट्रीय अध्यक्ष पर निर्भर करता है कि वह इससे कम या अधिक सदस्य बोर्ड में शामिल कर सकते हैं।

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पाकिस्तान से आए हिन्दू शरणार्थियों से मुलाकात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि उन्हें लंबे समय के लिए वीजा प्रदान किए जाएंगे ताकि वह इस देश में बस सकें और कानून के मुताबिक इन्हें नागरिकता देने के केसों में तेजी लाई जायेगी।

दिल्ली में कोरोना के कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गेनाइजेशन यानी DRDO ने 12 दिनों में 1000 बेड वाला कोरोना अस्पताल बनाकर तैयार कर दिया है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लगभग एक महीने पहले जब हमने दिल्ली में लॉकडाउन खोला था, तब बहुत तेजी से कोरोना के केस बढ़ने लगे थे। हमें तब उम्मीद थी कि केस बढ़ेंगे, मगर इतनी तेजी से बढ़ेंगे यह उम्मीद नहीं थी।

भारत और चीन सीमा विवाद के बीच अब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पर निशाना साधा है। उन्होंने पूछा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुंह से चीन शब्द क्यों नहीं निकलता है। उन्होंने कहा कि भारत सुपर पावर है, मगर देश के प्रधानमंत्री चीन का नाम तक नहीं लेते हैं।

राहुल गांधी ने एक ट्वीट में पीएम नरेंद्र मोदी को “Surender Modi” तक कह दिया। ऐसे में अब गृह मंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा है कि, ‘अगर चर्चा करनी है तो आइए 1962 से आज तक दो-दो हाथ हो जाए।’

दिल्ली में स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करने को लेकर शाह ने कहा कि हमने दिल्ली सरकार को तत्काल 500 ऑक्सीजन सिलेंडर, 440 वेंटिलेटर दिए हैं। एंबुलेंस के लिए दिल्ली सरकार को कहा है कि प्राइवेट कंपनियों के साथ मिलकर आप इनकी जरूरत पूरी कर सकते हैं।

राजधानी में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा बयान दिया हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना के टेस्ट चार गुना बढ़ाए गए हैं इसलिए मामले बढ़ रहे हैं। दिल्ली में प्रतिदिन 16 हजार टेस्ट हो रहे हैं। उन्होंने कहा, राजधानी में कम्युनिटी स्प्रेड नहीं हुआ है इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है।