Connect with us

देश

Maharashtra Politics: ‘Be Alert…’ राज ठाकरे ने शिंदे को CM बनने पर बधाई देने के साथ क्यों किया सतर्क

Maharashtra Politics: बता दें कि देश में कुछ दिन पहले लाउडस्पीकर मुद्दे ने मंदिर बनाम मस्जिद की बहस छेड़ दी थी। इस दौरान राज ठाकरे और शिवसेना आमने सामने आ गए थे। राज ठाकरे उस वक्त महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर हमलावर हो गए थे।

Published

raj thakare and eknath shinde

नई दिल्ली। महाराष्ट्र की राजनीति में बीते कई दिनों से जारी ड्रामा आखिरकार खत्म हो गया है। गुरुवार को उद्धव ठाकरे ने फ्लोर टेस्ट से पहले ही अपनी हार मान ली और मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद आज एकनाथ शिंदे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की मौजूदगी में मुख्यमंत्री पद  की शपथ ली। इसके साथ ही शिंदे महाराष्ट्र के इतिहास में 20वें नंबर के मुख्यमंत्री हो गए हैं। इससे पहले आज एकनाथ शिंदे ने गोवा के बाद महाराष्ट्र पहुंचकर भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के आवास जाकर मुलाकात की। जिसके बाद एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे ने एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान महाराष्ट्र की सियासत को लेकर भाजपा ने बड़ा दांव चल दिया है। जिसकी कल्पना शायद किसी ने भी नहीं की थी। महाराष्ट्र की सियासत में भाजपा ने बड़ा उलटफेर कर दिया है।

भाजपा ने मास्टर स्ट्रोक चलते हुए मुख्यमंत्री का नाम देवेंद्र फडणवीस का नहीं, बल्कि शिवसेना से बागी हुए एकनाथ शिंदे के नाम की घोषणा कर दी। अब इसके बाद महाराष्ट्र में नए सीएम के रुप में शपथ लेने वाले एकनाथ शिंदे को लगातार शुभकामना संदेश मिल रहे है। पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई लोगों ने एकनाथ शिंदे को सीएम बनने पर बधाई दी। अब MNS के प्रमुख राज ठाकरे ने भी शिंदे को बधाई दी है।

Raj Thackery

राज ठाकरे ने शिंदे को बधाई देते हुए एक पत्र पेश किया है, इसमे राज ठाकरे ने बधाई देते हुए कहा है कि “महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद का उत्तरदायित्व आप स्वीकार कर रहे हैं। इस बात का हमें आनंद है। सतर्क रहिए।”

यहां पढ़िए राज ठाकरे का एकनाथ शिंदे के नाम बधाई पत्र


बता दें कि देश में कुछ दिन पहले लाउडस्पीकर मुद्दे ने मंदिर बनाम मस्जिद की बहस छेड़ दी थी। इस दौरान राज ठाकरे और शिवसेना आमने- सामने आ गए थे। राज ठाकरे उस वक्त महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर हमलावर हो गए थे। उस वक्त राज ठाकरे ने कहा था कि ‘कोई भी MNS कार्यकर्ताओं के धैर्य की परीक्षा ना ले, सत्ता हमेशा के लिए नहीं होती है।’ इसके अलावा राज ठाकरे ने उद्धव ठाकरे के लिए तीखे शब्दों का प्रयोग करते हुए कहा था कि ‘कोई भी ताम्रपत्र में लिखवाकर सत्ता में नहीं आता है। उद्धव ठाकरे आप भी नही।’

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement