जम्मू-कश्मीर : BSF को भारत-पाक बॉर्डर पर मिली सुरंग, पाकिस्तान की साजिश का हुआ खुलासा

जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) के सांबा (Samba) में सीमा सुरक्षा बल (BSF) को एक सुरंग मिली है। जिसके बाद एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) की नापाक साजिश का खुलासा कर दिया है।

Avatar Written by: August 29, 2020 6:46 pm
Samba

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) के सांबा (Samba) में सीमा सुरक्षा बल (BSF) को एक सुरंग मिली है। जिसके बाद एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) की नापाक साजिश का खुलासा कर दिया है। जम्मू बीएसएफ आईजी एनएस जंवाल के अनुसार, ये सुरंग सीमा के साथ पाकिस्तान में शुरू होती है और सांबा में समाप्त होती है। सुरंग के पास सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया है। बीएसएफ के मुताबिक इस सुरंग की लंबाई करीब बीस फीट है और चौड़ाई तीन से चार फीट है। सुरंग को छुपाने के लिए इसके शुरू होने की जगह पर पाकिस्तान में बने सैंडबैग्स (रेत की बोरियां) भी मिले हैं जिस पर शकर गढ़/कराची लिखा हुआ है। इसके शुरु होने की जगह अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर से भारत की ओर करीब 170 मीटर है।

Samba

जम्मू बीएसफ के आईजी एनएस जंवाल ने मीडिया से बात करते हुए बताया, “सैंडबैग्स के ऊपर पाकिस्तान की साफ-साफ मार्किंग हैं जो ये दिखाती हैं कि इसे (सुंरग) पूरी प्लाइनिंग और इंजीनियरिंग की कोशिशों के साथ खोदा गया है। पाकिस्तानी रेंजर्स और अन्य एजेंसियों की सहमति और अनुमोदन के बिना, इतनी बड़ी सुरंग का निर्माण नहीं किया जा सकता है।”

अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ ने पूरे इलाके में बड़ा अभियान चलाया है ताकि पता लगाया जा सके कि कहीं और भी ऐसी सुरंगें तो नहीं हैं. इसके साथ ही, इस मिली सुरंग को लेकर विश्लेषण किया जा रहा है जिसका इस्तेमाल संभवत: आतंकवादियों की घुसपैठ और मादक पदार्थों और हथियारों की तस्करी के लिए किया गया हो।

अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ महानिदेशक राकेश अस्थाना ने सीमा पर तैनात कमांडरों को निर्देश दिया है कि वे सुनिश्चित करें कि सीमा पर घुसपैठ रोधी प्रणाली प्रभावी रहे और इस सीमा पर कोई खामी नहीं रहे। जम्मू के सांबा सेक्टर में बृहस्पतिवार को बीएसएफ जवानों को गश्त के दौरान भारतीय क्षेत्र में सीमा पर बाड़बंदी के पास स्थित इस सुरंग का पता चला। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हाल में हुई बारिश के बाद कुछ स्थानों पर जमीन धंसने से बीएसएफ को आशंका हुई।

Samba

अधिकारी ने बताया कि सुरंग का पता लगाने के लिए तत्काल मशीन मंगाई गई, मौके पर निरीक्षण करने पर पता चला कि सुरंग निर्माणाधीन है। सूत्रों के मुताबिक सुरंग करीब 25 फुट की गहराई में बनाई गई थी और यह बीएसएफ की ‘व्हेलबैक’ सीमा चौकी के नजदीक खुलती है। उन्होंने बताया कि बीएसएफ ने ऐसे अन्य किसी गुप्त ढांचे का पता लगाने के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बड़ा अभियान चलाया है।

सूत्रों ने बताया कि बीएसएफ महानिरीक्षक (जम्मू) एनएस जामवाल ने भी मौके का दौरा किया और अभियान का जायजा लिया। अधिकारियों ने बताया कि सुरंग के द्वार पर आठ से 10 रेत की बोरियां मिली हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost